ताज़ा खबर
 

‘धोखे से बुलाकर बेटे को मारा, पुलिस ने पुआल भूसी विवाद बता दिया’, पत्रकार के पिता ने बयां किया दर्द

रतन सिंह की हत्या के मामले में बलिया जनपद के फेफना थाना के प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने इस मामले में छह आरोपियों को गिरफ्तार भी किया है।

ratan singh fatherपत्रकार रतन सिंह के पिता विनोद सिंह। (वीडियो स्क्रीन शॉट)

उत्तर प्रदेश के बलिया में पत्रकार रतन सिंह की हत्या के मामले में उनके पिता विनोद सिंह ने अपना दर्द बयां किया है। उन्होंने कहा कि बेटे को थाने से महज कुछ दूरी पर दौड़ा-दौड़ाकर गोली मार गई। सोशल मीडिया में उनका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। वीडियो में पूछने पर उन्होंने बताया, ‘जैसा बताया जा रहा है, पुआल भूसी का कोई मामला नहीं था। वहां (घटनास्थल) पर ना पुआल है और ना भूसी है। पुलिस झूठी कहानी रच रही है। थाना प्रभारी शशि मौली इसके लिए जिम्मेदार हैं। वो झूठी कहानी बना रहे हैं।’

विनोद सिंह ने आगे कहा कि मौली घटनास्थल पर गाड़ी लेकर पहुंचे और तुरंत वहां से भाग गए। हत्या मामले में बलिया एसपी से लेकर अधिकारी तक सब झूठ बोल रहे हैं। सब गलत रिपोर्ट दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे बेटे को धोखे से बुलाकर ले गए और मार दिया। रतन सिंह के पिता का वीडियो पत्रकार रोहिणी सिंह ने शेयर किया है।

उन्होंने वीडियो शेयर कर बताया, ‘ये एक सामान्य पत्रकार के पिता की आवाज है जिसे थाने से मात्र 500 मीटर दूर दौड़ा दौड़ा कर गोली मारी गई और पुलिस ने बिना जांच किए इसे ‘पुआल-भूसी’ का विवाद बता दिया। रतन सिंह के पिता का कहना है कि पुलिस की कहानी झूठी है और वो खुद साजिश में शामिल है। क्या ये इंसाफ के हकदार नहीं हैं?’

Coronavirus Vaccine Live Updates

इधर रतन सिंह की हत्या के मामले में बलिया जनपद के फेफना थाना के प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने इस मामले में छह आरोपियों को गिरफ्तार भी किया है। अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने मंगलवार (25 अगस्त, 2020) को बताया कि टीवी चैनल के पत्रकार रतन सिंह के पिता विनोद सिंह की शिकायत पर सोमवार रात फेफना थाना में भारतीय दंड संहिता की बलवा एवं हत्या से संबंधित धारा में दस व्यक्तियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने छह आरोपियों – सुशील सिंह, सुनील सिंह, अरविंद सिंह, वीर बहादुर सिंह, दिनेश सिंह और विनय सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। यादव ने बताया कि विनोद सिंह के मुताबिक उनके पुत्र को गांव का ही सोनू सिंह कल रात आठ बजे घर से बुलाकर ले गया तथा उसके घर पर पहले से ही मौजूद लोग लाठी, डंडे और रिवॉल्वर से लैस थे। इन लोगों ने रतन की हत्या कर दी।

यादव ने बताया कि इस मामले में फेफना थाना प्रभारी शशि मौली पांडेय को निलंबित कर दिया गया है तथा राजीव मिश्रा को नया प्रभारी बनाया गया है। साथ ही कहा कि शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी हैं। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने दिवंगत पत्रकार रतन सिंह के परिजन को 10 लाख रुपए आर्थिक मदद देने का मंगलवार को एलान किया।

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने लखनऊ में बताया कि मुख्यमंत्री ने हत्या पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए आरोपियों के खिलाफ हर संभव कार्रवाई का निर्देश दिया है। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उत्तराखंड बीजेपी में खटपट: बंदूक़ लेकर नाचने वाले एमएलए को पार्टी में दोबारा लेने पर नेता नाराज़, जेपी नड्डा तक जाने की तैयारी
2 ‘न तजिया निकालें, न मुहर्रम का जुलूस’, योगी सरकार ने सभी धार्मिक समारोहों, राजनीतिक आंदोलनों पर लगाई तत्काल रोक
3 गुजरात: जिस विधायक पर 15 क्रिमिनल केस, उसे बनाया पुलिस कम्प्लेंट अथॉरिटी का सदस्य
राशिफल
X