ताज़ा खबर
 

चंडीगढ़: आधी रात को मीट शॉप पर टकराव, भड़की झड़प में 3 जख्मी, कई वाहनों में तोड़-फोड़, 4 धराए

स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि पुलिस की प्रतिक्रिया काफी धीमी थी, हालांकि बाद में शिकायतकर्ता के बयान के आधार पर पुलिस ने शरारती तत्वों की पहचान कर ली।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र Updated: October 3, 2020 9:05 AM
Chandigarh, Miscreantsचंडीगढ़ के मौली जागरण इलाके में हुई घटना। (एक्सप्रेस फोटो)

चंडीगढ़ में गुरुवार रात को खाने को लेकर हुए एक छोटे विवाद ने इतना बड़ा रूप ले लिया कि दो गुट आपस में भिड़ गए। हालात ऐसे थे कि दोनों पक्षों के लोग बदमाशों की तरह कानून व्यवस्था को ताक पर रखकर आसपास खड़ी गाड़ियों में तोड़फोड़ तक मचाने लगे। हालांकि, बाद में पुलिसबल ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले को अपने नियंत्रण में लिया और इस हरकत को अंजाम देने वाले लोगों को गिरफ्तार किया।

मामला चंडीगढ़ के मौली जागरण इलाके का है। यहां गुरुवार रात कुछ लोग एक चिकन शॉप पर मीट लेने आए। हालांकि, जब लोगों ने दुकानदार से बाद में पेमेंट करने की बात कही, तो दुकान के मालिक ने उन्हें मीट देने से इनकार कर दिया। यह विवाद बाद में इतना बढ़ गया कि मीट खरीदने आए लोग लोहे की रॉड, तलवार, डंडे और कई घातक हथियार ले आए और दुकान मालिक के घर पर ही धावा बोल दिया। जहां एक तरफ शरारती तत्वों ने आसपास कारों में तोड़फोड़ करनी शुरू कर दी, वहीं पुलिस काफी समय तक इस घटना को देखने तक नहीं पहुंची।

स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि पुलिस की प्रतिक्रिया काफी धीमी थी। इस मामले में बाद में पुलिस ने दुकान के मालिक कुणाल (23) का बयान दर्ज किया। बताया गया है कि कुणाल को बदमाशों ने पीट-पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। उसके बयान के आधार पर ही अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कुछ बदमाशों की पहचान पंचकूला के सेक्टर-17 स्थित राजीव कॉलोनी में रहने वालों के तौर पर हुई है।

कुणाल ने बयान में कहा है कि गुरुवार रात कुछ लोग उसकी दुकान में चिकन खरीदने आए थे, उन्होंने पैसे बाद में देने की बात कही थी। हालांकि, जब उन्हें उधारी देने से इनकार कर दिया गया, तो वे बड़ी संख्या में अन्य लोगों के साथ पत्थर, लोहे की रॉड और डंडे लेकर आ गए और कुणाल के घर पर ही हमला कर दिया। उन्होंने कुणाल के सिर पर डंडा मारा, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। इतना ही नहीं बदमाशों ने घर में महिलाओं से भी छेड़छाड़ की कोशिश की, लेकिन उन्होंने अपने आप को बचा लिया।

आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि जो वाहन तोड़े गए, वे आम जनता के थे और उनका टकराव से भी कोई लेना-देना नहीं था। लोगों ने पुलिस की ओर से कार्रवाई में देरी का भी आरोप लगाया। साथ ही कहा कि क्षेत्र में हर दिन गुंडागर्दी बढ़ती जा रही है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में गिरफ्तार लोगों को स्थानीय कोर्ट में पेश कर उनकी पुलिस कस्टडी मांगी जाएगी। डीएसपी गुरुमुख सिंह ने शुक्रवार को घटनास्थल का दौरा किया।

Next Stories
1 हाथरस गैंगरेपः पीड़िता के गांव में पुलिस के 300 जवान, 2 दिन तक परिजन रखे गए ‘कैद’, बोले- DM ने पूछा VIDEO कैसे वायरल हो रहे?
2 जड़, जंगल और जमीन: गांवों से गुम हो रही बांस की खेती, अब संग्रहालयों में दिखेंगी बांस की लाठी, पालकी, चारपाई
3 Bihar Elections 2020: शायर मुनव्वर राणा की बेटी Congress में शामिल, चुनाव लड़ने पर कहा- मिला मौका, तो तैयार हूं
ये पढ़ा क्या?
X