ताज़ा खबर
 

बढ़ने वाली हैं अखिलेश यादव की मुसीबतें, मुलायम और शिवपाल नवरात्रों में बना सकते हैं अपनी अलग पार्टी

नई पार्टी का नाम समाजवादी सेकुलर फ्रंट हो सकता है।

समाजवादी पार्टी टूटने की ओर अब और आगे बढ़ती दिखाई दे रही है। हाल ही में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और उनके भाई शिवपाल सिंह यादव नवरात्र में नई पार्टी की घोषणा करने के संकेत दिए हैं। 5 अक्टूबर को आगरा में समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल सम्मेलन होने वाला है। कयास लगाये जा रहे हैं कि राष्ट्रीय सम्मेलन से पहले ही मुलायम सिंह यादव द्वारा नई पार्टी बनाने का निर्णय लिया जा सकता है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव के मुताबिक जल्द ही नई पार्टी के गठन की घोषणा की जाएगी। उनका कहना था कि वह और नेता जी चाहते हैं कि पार्टी और परिवार एक रहे, लेकिन अखिलेश यादव अपनी जिद पर अड़े हैं। उनकी जिद की वजह से मजबूरन नई पार्टी के गठन के बारे में सोचना पड़ रहा है।

सपा का प्रदेशीय सम्मेलन 23 सितम्बर को लखनऊ और राष्ट्रीय सम्मेलन 5 अक्टूबर को आगरा में होना है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार राष्ट्रीय सम्मेलन के लिए लगने वाले होर्डिंग्स में मुलायम सिंह यादव का चित्र नहीं रहेगा।

इस बात की खबरें भी सामने आ रही हैं कि नई पार्टी का नाम समाजवादी सेकुलर फ्रंट हो सकता है और इसकी घोषणा नवरात्रि में की जा सकती है। मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव के समर्थकों ने जिलेवार अपने लोगों को चिह्नित करना शुरु कर दिया है। दो दिन पहले शिवपाल ने कन्नौज में कहा था कि ‘समाजवादी पार्टी किसने बनाई? क्या नेता जी का अपमान होना चाहिए?’ शिवपाल ने एक बार फिर समाजवादी पार्टी की हार पर अपने संगठन के बिखराव को दोषी ठहराया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App