तिरंगे में अशोक चक्र की जगह मस्जिद की तस्वीर, भड़के हिंदू संगठन

इस सन्दर्भ में हिन्दू संगठनों ने ज्ञापन में आयोजकों और उसमें शामिल लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की है।

राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में जुलुस के दौरान तिरंगे में अशोक चक्र की जगह मस्जिद की तस्वीर का मामला सामने आया है। जिसके चलते हिन्दू संगठनों में आक्रोश पैदा हो गया है। दरअसल हिन्दू जागरण मंच और अखिल भारतीय हिन्दू महासभा ने आरोप लगाया है कि एक समुदाय विशेष द्वारा जुलूस के दौरान राष्ट्रध्वज का अपमान किया गया है। हालाँकि दोनों संगठनों ने इस संबंध में जिले के पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह को ज्ञापन सौंपा है। पुलिस अधीक्षक ने कहा है कि इस मामले की जाँच कराई जाएगी तथा जो भी उचित धाराएं बनतीं होंगी, उनके अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ज्ञापन के अनुसार पूरनपुर कस्बे में बीते दिन जुलूस-ए-गौसिया का जुलूस निकाला गया था। इस जुलुस के दौरान राष्ट्रीय ध्वज पर बने अशोक चक्र की जगह मस्जिद का चित्र बनाया गया था। जुलूस में राष्ट्रीय ध्वज का खुला अपमान हुआ है।

इस सन्दर्भ में हिन्दू संगठनों ने ज्ञापन में आयोजकों और उसमें शामिल लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की है। संगठनों ने यह भी कहा कि ऐसा ना करने पर आंदोलन किया जाएगा। जबकि पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस पूरे प्रकरण की जांच करने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि तिरंगे के अपमान का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें राष्ट्रध्वज का अपमान किया गया है। इसी साल गणतंत्र दिवस के ठीक पहले अयोध्या के राम कथा अंतराष्ट्रीय संग्रहालय में तिरंगा जमीन पर पड़ा देखा गया था। साल 2008 में सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हुई थी जिसमें टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा ने तिरंगे के सामने पैर रखे हुए थे इनके अलावा सूचि में कई फ़िल्मी हस्तियां जैसे अक्षय कुमार, अमिताभ बच्चन, शाहरुख़ खान अदि तथा क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी हैं। हालांकि राजनितिक पार्टियां भी इसमें पीछे नहीं हैं उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में आप पार्टी के नेताओं ने एक धरने के आयोजन के दौरान पूरे दिन तिरंगे को उल्टा लटकाए रखा था। इनके अलावा उमा भारती, ममता बनर्जी, मनोहरलाल खट्टर आदि भी इस सूचि में शामिल हैं।  (भाषा इनपुट्स के साथ)

अपडेट