ताज़ा खबर
 

Delhi-NCR Transport Strike Today Latest News: संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के खिलाफ आज हड़ताल, कई स्कूल बंद

Delhi-NCR Transport Strike Today: संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के विभिन्न प्रावधानो के खिलाफ एक दिन के लिए ट्रंसपोर्ट बॉडी ने हड़ताल का आव्हान किया है। इसमें ट्रांसपोर्ट बॉडी के 41 यूनियन शामिल हैं।

Author नई दिल्ली | Published on: September 19, 2019 12:06 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

Delhi-NCR Transport Strike Today: दिल्ली और नोएडा में परिवहन संघ ने संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के तहत लगाए गए दंड के खिलाफ गुरुवार (19 सितंबर) को हड़ताल की है। इस वजह से यहां आज (19 सितंबर) को यात्रियों को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। शहर भर के कई निजी स्कूल बंद रहेंगे। कलस्टर, निजी बसें, ऑटो-रिक्शा, ऐप-आधारित टैक्सी, ट्रकों, ग्रामीण सेवाओं और स्कूल वैन का एक खंड गुरुवार को सड़कों पर नहीं जाएगा, जिससे स्कूलों के लिए समस्या पैदा हो जाएगी। रिपोर्टों के अनुसार, स्कूलों के अलावा, नोएडा में कई कंपनियों और उद्योगों ने भी कहा है कि वे गुरुवार को काम नहीं करेंगे।

ट्रांसपोर्ट बॉडी के 41 यूनियन हड़ताल में शामिल: संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के विभिन्न प्रावधानो के खिलाफ एक दिन के लिए ट्रंसपोर्ट बॉडी ने हड़ताल का आव्हान किया है। इसमें ट्रांसपोर्ट बॉडी के 41 यूनियन शामिल हैं, संयुक्त मोर्चा ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (यूएफटीए), जिसने हड़ताल का आह्वान किया है, वह दिल्ली में ट्रक, बस, ऑटो, टेम्पो, मैक्सी-टैक्सी और टैक्सियों सहित माल और यात्री क्षेत्रों के 41 संघों और यूनियनों का प्रतिनिधित्व करता है। एनसीआर क्षेत्र यूएफटीए ने कहा कि गुरुवार को सुबह 6 बजे से रात 9.30 बजे तक कोई भी निजी व्यावसायिक वाहन दिल्ली की सड़कों पर नहीं होगी।

National Hindi News, 19 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

संशोधित एमवी अधिनियम की समीक्षा करने की मांग: यूएफटीए अध्यक्ष हरीश सभरवाल ने कहा था कि, हमारी मुख्य मांग यह है कि संशोधित एमवी अधिनियम के तहत मौजूदा दंड की समीक्षा की जानी चाहिए। यह भ्रष्टाचार के स्रोत के अलावा कुछ नहीं है। जबकि सरकार ने जुर्माना बढ़ा दिया है, उसने किसी भी बुनियादी ढांचे के साथ इसका समर्थन नहीं किया है। हमारे पास अभी भी चालान का कोई वैज्ञानिक प्रमाण क्यों नहीं है? ट्रैफिक इंस्पेक्टर अभी भी बॉडी वियर कैमरे या कॉलर माइक्रोफोन से लैस नहीं हैं। सरकार ने आश्वासन दिया है कि एसीपी या एसडीएम रैंक का अधिकारी उच्च मूल्य के चालान जारी करेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

शहर के कई स्कूल बंद : यूएफटीए के हड़ताल के बाद कई अभिभावकों को अपने बच्चों के स्कूलों से संदेश प्राप्त किया हुआ है कि वे हड़ताल के कारण गुरुवार को स्कूल बंद रखेंगे। गुरुवार को होने वाली परीक्षाएं भी कुछ स्कूलों में स्थगित कर दी गई हैं।

इन स्कूल ने अवकाश की घोषणा की: कई निजी स्कूल जैसे श्रीराम मिलेनियम स्कूल, एपीजे स्कूल, गंगा राम अस्पताल मार्ग में बाल भारती पब्लिक स्कूल, और नोएडा में शिव नादर स्कूल, रोहिणी में माउंट आबू पब्लिक स्कूल और शालीमार बाग में मॉडर्न पब्लिक स्कूल ने गुरुवार को छुट्टी घोषित कर दी है। जबकि कुछ स्कूलों ने खुले रहने का फैसला किया है, माता-पिता को अपने बच्चों के लिए यात्रा की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है।

माता-पिता वैकल्पिक व्यवस्था करें: एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, नोएडा के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमारी स्कूल बसें सामान्य रूप से संचालित होंगी। हमने निजी परिवहन का उपयोग करने वाले माता-पिता से अनुरोध किया है कि वे अपने बच्चों को छोड़ने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करें। जबकि कई माता-पिता अपने बच्चों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने को लेकर दुविधा में हैं क्योंकि कई रिपोर्टें हैं कि हड़ताल में सड़क अवरोध भी शामिल है। हालाकि ऑल नोएडा स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष यतेंद्र कसाना कहा कि ऐसी खबरें हैं कि हड़ताल में सड़क अवरोध भी शामिल है। यहां तक ​​कि अगर हम वैकल्पिक व्यवस्था करते हैं, तो हम सड़कों की स्थिति के बारे में कभी भी निश्चित नहीं हो सकते हैं।

मेट्रों में आज देखने को मील सकती है भीड़: दिल्ली -एनसीआर में प्राइवेट बस ऑपरेटर्स की करीब 25000 कॉन्ट्रैक्ट कैरिज की बसें चलती हैं और इन बसों से लोग नोएडा, गुड़गांव, गाजियाबाद, बहादुरगढ़, पानीपत, मेरठ तक सफर करते हैं। इन बसों का उपयोग लोग बड़ी संख्या में ऑफिस आने-जाने के लिए भी करते है। इनके हड़ताल का असर आज (19 सितंबर) डीटीसी और मेट्रों में देखने को मिल सकता है। मेट्रों में हड़ताल के कारण काफी भीड हो सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आईआईटी बॉम्बे के हॉस्टल में बेरोकटोक घुसी गाय और खा गई छात्रों की किताबें
2 सीहोर में पत्रकारों पर भड़कीं भोपाल MP साध्वी प्रज्ञा, बोलीं- सुन लो अपनी तारीफ, बेईमान हैं सारे मीडिया वाले