ताज़ा खबर
 

ट्रेन छेड़खानी मामला: निलंबित जदयू विधायक सरफराज आलम गिरफ्तार, बाद में जमानत पर छूटे

राजधानी एक्सप्रेस में एक दंपति के साथ बदतमीजी के मामले में बिहार में सत्तारूढ़ दल जद (एकी) के निलंबित विधायक सरफराज आलम को रविवार को यहां गिरफ्तार कर लिया गया।

पटना | Updated: January 25, 2016 2:24 AM
जदयू से निलंबित विधायक सरफराज आलम (फाइल फोटो)

राजधानी एक्सप्रेस में एक दंपति के साथ बदतमीजी के मामले में बिहार में सत्तारूढ़ दल जद (एकी) के निलंबित विधायक सरफराज आलम को रविवार को यहां गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि बाद में देर रात उनको सशर्त जमानत पर छोड़ दिया गया। पटना राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) के अधीक्षक प्रकाश नाथ मिश्र ने बताया कि राजधानी एक्सप्रेस में पिछले रविवार को एक दंपति के साथ बदतमीजी के मामले में पूछताछ के लिए रविवार को बुलाए गए विधायक सरफराज आलम, उनके अंगरक्षक और निजी कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि बाद में सरफराज को 20-20 हजार रुपए के दो निजी मुचलकों पर सशर्त जमानत दे दी गई।

उन्होंने बताया कि जिन पांच शर्तों पर जमानत दी गई है, उनमें पासपोर्ट जमा करने के साथ मामले की जांच तक देश के बाहर नहीं जाने की भी शर्त भी शामिल है। मिश्र ने बताया कि अन्य शर्तों में विधायक से आरोपी दंपति के साथ नहीं मिलने और न ही उन पर दबाव नहीं बनाने, जांच में सहयोग करने और बाद में अदालत से नियमित जमानत लेने की शर्तें शामिल हैं। बिहार के अररिया जिला के जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र से तीसरी बार विधायक निर्वाचित सरफराज से शनिवार को पुलिस ने चार घंटे पूछताछ करने के बाद स्वास्थ्य कारणों से घर जाने की इजाजत दे दी थी।

17 जनवरी को डिबू्रगढ़-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में सफर करने के दौरान एक दंपति के साथ दुर्व्यवहार के आरोपी राजद सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज ने पुलिस पूछताछ के दौरान यह स्वीकारा कि उन्होंने उक्त टेÑन से यात्रा की थी, पर विधायक ने दावा किया कि उन्होंने दंपति के साथ दुर्व्यवहार नहीं किया था। सरफराज पहले इस ट्रेन से यात्रा करने की बात से ही इंकार कर रहे थे। राजधानी एक्सप्रेस में एक दंपति से दुर्व्यवहार मामले को लेकर सरफराज को शनिवार को ही पार्टी से निलंबित कर दिया था।

इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले पर यहां कहा कि पार्टी ने तथ्यों की जानकारी ली और तुरंत फैसला करते हुए विधायक को निलंबित कर दिया गया था। उन्होंने कहा- हमारी सरकार मानती है कि कानून के नजर में सभी समान है। किसी भी दोषी को गुनाह के लिए बख्शा नहीं जाएगा, चाहे वह कोई भी हो। गुनाह करने वालों को बचाने की कोई कोशिश नहीं होती है, बल्कि सरकार उन्हें कानून के मुताबिक सख्त सजा दिलाने का काम करती है। उन्होंने कहा जो पुलिस अधिकारी काम में शिथिलता या लापरवाही बरतेंगे, उन्हें भी बख्शा नहीं जाएगा।

Next Stories
1 महिला से छेड़छाड़ का आरोपी जद (एकी) विधायक निलंबित, नीतीश बोले- कोई भी कानून से ऊपर नहीं
2 नीतीश ने पहली बार रखा सलाहकार, प्रशांत किशोर को दिया मंत्री का दर्जा
3 बिहार: सीएम नीतीश कुमार की अपील-एक अप्रैल से शराब की भट्टियों को तबाह करने से न हिचकें महिलाएं
ये पढ़ा क्या?
X