ताज़ा खबर
 

नोएडा: गाड़ी की नंबर प्लेट पर लिखा था गुर्जर, ठाकुर और ब्राह्मण, पुलिस ने काट दिया 1457 लोगों का चालान

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर जिले में ट्रैफिक पुलिस ने उन लोगों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है, जो अपनी गाड़ियों की नंबर प्लेट पर जाति विशेष का नाम आदि लिखकर रखते हैं। रविवार को ऐसे 1457 लोगों का चालान काटा गया।

Author नोएडा | July 8, 2019 5:33 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर में ट्रैफिक पुलिस ने अलग ही मुहिम छेड़ रखी है। इसके तहत ऐसे लोगों का चालान काटा जा रहा है, जो अपने वाहनों की नंबर प्लेट पर रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ-साथ जाति विशेष का नाम व अन्य स्लोगन लिखकर चलते हैं। रविवार (7 जुलाई) को चले इस अभियान में 1457 लोगों का चालान काटा गया। इस दौरान 62 वाहनों को सीज भी किया गया।

शाम 6:30 बजे से चला अभियान: जानकारी के मुताबिक, गौतमबुद्धनगर पुलिस ने ऑपरेशन क्लीन-7 अभियान चला रखा है। इसके तहत रविवार शाम 7:30 बजे से रात 10 बजे तक चेकिंग ड्राइव चलाई गई। इस दौरान उन वाहनों को पकड़ा गया, जिनके पीछे जातिसूचक नाम या दबंगई वाली बातें लिखी थीं। साथ ही, गंदी नंबर प्लेट के साथ गाड़ी चलाने वालों को भी रोका गया।

National Hindi News, 08 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

1457 वाहनों का चालान कटा: अभियान के दौरान पुलिस ने कुल 1457 वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, शहरी क्षेत्र में 561 वाहनों का चालान काटा गया, जबकि 61 गाड़ियां सीज कर दी गईं। वहीं, ग्रामीण क्षेत्र में 295 वाहनों का चालान कटा और 37 गाड़ियां सीज की गईं। इनके अलावा अभियान में ट्रैफिक पुलिस भी एक्टिव रही और 601 वाहनों के चालान काटे।

Bihar News Today, 05 July 2019: बिहार की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

दोबारा मिली गड़बड़ी तो सीज होगी गाड़ी: नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि गलत नंबर प्लेट व बिना नंबर प्लेट की गाड़ियों के कारण शहर में क्राइम बढ़ रहा है। ऐसे में इन वाहनों को चिह्नित करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। रविवार को चली ड्राइव में सभी वाहन चालकों को हिदायत भी दी गई है। उनसे कहा गया है कि अगर उनकी गाड़ी पर दोबारा ब्राह्मण, ठाकुर और गुर्जर आदि लिखा मिला तो गाड़ी सीज कर दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App