ताज़ा खबर
 

यूपी में न हो बिहार जैसी हार, इसलिए आरएसएस नेताओं ने नरेंद्र मोदी के 30 मंत्रियों के साथ की बैठक

कहा जा रहा है कि बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और वित्त मंत्री अरुण जेटली शामिल हो सकते हैं।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत (बाएं) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेता शुक्रवार (चार नवंबर) को केंद्र सरकार के करीब 30 मंत्रियों के संग बैठक की है। बताया जा रहा है कि इस बैठक का मकसद आगामी उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव की रणनीति बनाना था। इस संयोजन बैठक में बीजेपी नेता और संघ के पदाधिकारी विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। माना जा रहा है कि बिहार विधान सभा चुनाव में संघ और बीजेपी के बयानों में अंतर दिखने से हुए नुकसान के बाद यूपी चुनाव से एहतियाती तौर पर ये बैठक की गई।  एक वरिष्ठ आरएसएस नेता ने एनडीटीवी से कहा कि असम चुनाव के तरह यूपी चुनाव के लिए भी संघ और बीजेपी के नेताओं को मिलकर रणनीति बनाने की जरूरत समझी जा रही थी। नेता ने कहा कि संघ नहीं चाहता कि यूपी विधान सभा चुनाव में बिहार चुनाव जैसी स्थिति आए।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार बैठक में संघ बीजेपी नेताओं के लिए आचार संहिता तय करनी की बात भी कही जा रही है। माना जाता है कि बिहार विधान सभा चुनाव के दौरान संघ प्रमुख मोहन भागवत और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह के बयानों से पार्टी को नुकसान हुआ था। बिहार चुनाव में बीजेपी को नीतीश कुमार, लालू यादव और कांग्रेस गठबंधन से करारी हार का सामना करना पड़ा था जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में पार्टी के लिए कई चुनावी रैलियां की थीं। बिहार चुनाव के दौरान ही संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण की समीक्षा किए जाने की बात कही थी। राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार इससे बिहार में वोटों की लामबंदी हुई और उसे हार का सामना करना पड़ा।

करीब दो दशकों से यूपी की सत्ता से बाहर बीजेपी अगले साल होने वाले विधान सभा चुनाव में प्रदेश में वापसी की पुरजोर कोशिश कर रही है।  इसलिए पार्टी आगामी चुनाव में कोई खतरा नहीं लेना चाहती। हालांकि अभी तक बीजेपी ने यूपी में सीएम उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। आज की बैठक में इस बात पर भी चर्चा होने की बात कही जा रही है कि संघ के जमीनी कार्यकर्ता मोदी सरकार द्वारा किए गए कार्यों को आम लोगों तक किस तरह पहुंचाएंगे। ये भी कहा जा रहा है कि संघ के नेताओं ने केंद्रीय मंत्रियों को बेहतर नीतियां बनाने संबंधी सुझाव भी दिए।

यूपी के अलावा अगले साल पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और गुजरात में विधान सभा चुनाव होने वाले हैं। बैठक में संघ नेताओं और मंत्रियों के इन राज्यों के चुनाव के मद्देनजर रणनीति पर भी विचार करने की बात कही जा रही है। मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार आरएसएस नेता दत्तात्रेय होसबोले में बैठक में शामिल थे। माना जा रहा है कि ये बैठक आज सुबह से ही शुरू हो गई थी। बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और वित्त मंत्री अरुण जेटली के भी शामिल होने की बात कही जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    Mangesh Patil
    Nov 4, 2016 at 1:22 pm
    sangh ko rajnitik party ka darja dena chaiye
    (0)(0)
    Reply
    1. N
      NAVNEET MANI
      Nov 4, 2016 at 5:06 pm
      पाटिल तू तो निकला. जा पहले संघ और भाजपा का इतिहास पढ़ ले ...
      (0)(0)
      Reply