ताज़ा खबर
 

वाधवा बंधुओं को टूर की इजाजत देने पर उद्धव सरकार ने गृह सचिव को हटाया, संबित पात्रा ने लगाए सरकारी साठगांठ के आरोप

डीएचएफएल और यस बैंक से जुड़े घोटालों में आरोपी कपिल और धीरज वाधवा 8 मार्च को परिवार के साथ 5 गाड़ियों में मुंबई से सतारा स्थित फार्म हाउस पहुंचे थे।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र मुंबई | Updated: April 11, 2020 8:31 AM
शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, साथ में उनके बेटे आदित्य ठाकरे।

महाराष्ट्र सरकार ने वाधवा बंधुओं को लॉकडाउन के दौरान मुंबई से बाहर जाने के लिए पास जारी करने वाले वरिष्ठ आईपीएस अफसर को अनिवार्य छुट्टी पर भेज दिया। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा के बाद विशेष मुख्य सचिव अमिताभ गुप्ता को तत्काल छुट्टी पर भेज दिया गया है। उनके खिलाफ जांच बिठाई जाएगी और इसी के आधार पर कार्रवाई होगी।

वाधवा बंधुओं के लिए लॉकडाउन के दौरान जारी किया गया पास। (फोटो- ट्विटर)

देश में कई बड़े घोटालों और फ्रॉड के मामलों में आरोपी बनाए गए बिजनेस टायकून्स वाधवा बंधुओं को लॉकडाउन तोड़ने के लिए शुक्रवार को ही महाबलेश्वर से हिरासत में लिया गया। पुलिस के मुताबिक, दोनों भाई अपने परिवार के 21 लोगों के साथ मुंबई से 250 किलोमीटर दूर सतारा के हिल स्टेशन में छुट्टियां मना रहे थे। आरोप है कि सभी परिवारवालें लॉकडाउन के बावजूद पांच कारों में बैठकर बुधवार रात मुंबई से निकले थे। इसके लिए उन्होंने वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी से पास मिले।

इसी बीच भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने महाराष्ट्र सरकार को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। एक टीवी चैनल से बातचीत में पात्रा ने कहा, “ये कोई एक व्यक्ति नहीं है, जिसने पास पर साइन कर दिया और 23 लोगों को पास दे दिया। यह होम सेक्रेटरी हैं, यह राज्य का सबसे बड़ा गृह अधिकारी है। मैं बताता हूं किसके कहने पर उन्होंने यह किया। महाराष्ट्र में तीन वर्चस्व वाले परिवार हैं- शिवसेना, पवार साहब का और कांग्रेस का। प्रफुल्ल पटेल, जो कि एनसीपी के बड़े नेता हैं और पवार साहब का क्या रिश्ता है वाधवा परिवार के साथ।”

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट

पात्रा ने आगे कहा, “दो हफ्ते पहले महाराष्ट्र पुलिस को इनके बारे में जानकारी नहीं थी। यह बेल पर बाहर थे और किसी को इनके छिपे होने की जानकारी नहीं थी। क्या लगता है किसी क्लर्क के कहने पर 23 लोगों को छोड़ा जा सकता है। पूरा देश कोरोना से लड़ रहा है और आप कोरोना करप्शन कर रहे हैं।”

Coronavirus in States LIVE Updates:  यहां देखें लाइव अपडेट 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 DHFL समेत कई घोटालों में आरोपी वाधवा भाई लॉकडाउन में पहुंच गए 250KM दूर हिल स्टेशन, परिवार के 23 लोगों संग मना रहे थे पिकनिक, हिरासत में लिए गए
2 देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े, विदेशों से हालात अब भी बेहतर