ताज़ा खबर
 

उपचुनाव में हारी बीजेपी: केशव प्रसाद मौर्य ने इंडियन टीम को दी बांग्‍लादेश पर जीत की बधाई, जमकर हुए ट्रोल

भारतीय टीम ने बांग्लादेश को हराकर श्रीलंका में चल रहे निदास ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इस पर भारतीय टीम को बधाई दी थी। लेकिन, प्रदेश की दो लोकसभा सीटों पर हार को लेकर लोगों ने उनकी ट्रोलिंग शुरू कर दी।

केशव प्रसाद मौर्य (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को भारतीय क्रिकेट टीम को जीत पर बधाई देना महंगा पड़ गया। उनका मैसेज सामने आते ही लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। निदास ट्रॉफी में भारत ने 14 मार्च को बांग्लादेश को हरा कर T20 त्रिकोणीय श्रृंखला के फाइनल में प्रवेश कर लिया था। भारत की जीत पर केशव मौर्य ने ट्वीट किया था, ‘निदास ट्रॉफी त्रिकोणीय T20 सीरीज के पांचवें मैच में भारतीय टीम ने बांग्लादेश को 17 रन से हराकर फाइनल में जगह बना ली है। भारतीय टीम को इस शानदार जीत के लिए बहुत-बहुत बधाइयां एवं फाइनल के लिए शुभकामनाएं।’ बुधवार को ही उत्तर प्रदेश में दो लोकसभा सीटों (गोरखपुर और फूलपुर) के लिए हुए उपचुनाव के नतीजे आए थे, जिसमें केंद्र और उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा।

इसको लेकर लोगों ने उपमुख्यमंत्री को ट्रोल करना शुरू कर दिया। प्रतीक सिंह ने ट‌्वीट किया, ‘भारत तो जीतता ही रहता है परंतु आपकी हार ने हमें दुख पहुंचाया है।’ मणि ने लिखा, ‘अपने क्षेत्र की तरफ ध्यान दीजिए। हमेशा मोदी जी के नाम पर वोट नहीं मिलेगा। बधाई वगैरह हम लोग देख लेंगे।’ अभिषेक सचान ने ट्वीट किया, ‘एक सेमीफाइनल आपका भी था, उसके लिए खेद।’ मनीष पाल ने लिखा, ‘अपनी हार का स्ट्रेस निकालने के लिए मैच का सहारा।’ आर्य प्रदीप ने ट्वीट किया, ‘खिलाड़ियों को बधाई देते-देते कहीं आगामी लोकसभा में विरोधियों को भी बधाई न देना पड़ जाए।’

पिछले लोकसभा चुनाव में केशव प्रसाद मौर्य फूलपुर सीट से रिकॉर्ड मतों से जीते थे, लेकिन उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार विजयी रहे। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में भी भाजपा अपनी सीट नहीं बचा सकी। सपा-बसपा के साथ आने से चुनावों का पूरा गणित बदल गया था। सीएम आदित्यनाथ ने हार को स्वीकार करते हुए दो मुख्य विरोधी दलों के हाथ मिलाने की बात को गंभीरता से न लेने की बात कही थी। बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में जीत मिलने के बाद योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री और केशव प्रसाद मौर्य को उपमुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी दी गई थी। इसके कारण गोरखपुर और फूलपुर की सीटें खाली हो गई थीं। इन दोनों सीटों पर 11 मार्च को उपचुनाव कराया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App