ताज़ा खबर
 

TMC कार्यकर्ताओं ने लगाए ‘राज्यपाल शर्म करो’ के नारे, हावड़ा में दिखाए गवर्नर धनखड़ को काले झंडे

आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के कथित सदस्य नारे लगा रहे थे कि लंबित विधेयकों को मंजूरी देने में देरी के लिए राज्यपाल ही जिम्मेदार हैं, जिसके चलते इस हफ्ते राज्य विधानसभा को दो दिन के लिए स्थगित करना पड़ा था।

Author हावड़ा | Updated: December 8, 2019 11:06 AM
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और सीएम ममता बनर्जी। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को काले झंडे दिखाने का नया मामला सामने आया है। बता दें कि राज्यपाल धनखड़ को हावड़ा जिले के लिलुआ स्थित एक कॉलेज में तृणमूल कांग्रेस के कथित सदस्यों द्वारा काले झंडे दिखाए गए हैं। राज्यपाल यहां कॉलेज के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए आए थे। इस दौरान यह घटना घटी है। जानकारी के मुताबिक, प्रदर्शनकारी हाथों में तख्तियां लिए हुए थे, जिनपर लिखा था, ‘राज्यपाल शर्म करो।’ गौरतलब है कि ममता सरकार पर राज्यपाल ने कई संगिन आरोप लगा चुके हैं। वहीं टीएमसी द्वारा राज्यपाल को ‘बीजेपी का दलाल’ कहने का भी बात पहले सामने आई थी।

क्या है मामलाः राज्यपाल धनखड़ को शनिवार (07 दिसंबर) की शाम लिलुआ के एक कॉलेज में जाने की बात थी। इस दौरान वह जैसे ही वहां पहुंचे उन्हें काले झंडे दिखाए गए। बताया जा रहा है कि जब उनका काफिला कॉलेज में प्रवेश किया तो तृणमूल कांग्रेस के कथित सदस्यों ने धनखड़ को ‘राज्यपाल शर्म करो।’ लिखी हुई तख्तियां और काले झंडे दिखाए।

Hindi News Today, 08 December 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

मामले की जानकारी नहीं- टीएमसी हावड़ा अध्यक्षः मामले में यह भी कहा गया कि तृणमूल कांग्रेस के कथित सदस्य नारे लगा रहे थे कि लंबित विधेयकों को मंजूरी देने में देरी के लिए राज्यपाल जिम्मेदार ही हैं, जिसके चलते इस हफ्ते राज्य विधानसभा को दो दिन के लिए स्थगित करना पड़ा। वहीं इस पर जब तृणमूल कांग्रेस के हावड़ा अध्यक्ष अरूप रॉय से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा, ‘मुझे घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं है। मैं इसे देखूंगा। लेकिन अगर स्थानीय लोग किसी के प्रति अपने गुस्से को जाहिर करते हैं तो हम क्या कर सकते हैं।’

राज्यपाल और ममता बनर्जी के बीच बढ़ रही है दूरियांः हावड़ा के जिलाधिकारी (डीएम) मुक्ता आर्य ने कहा कि पुलिस मामले को देख रही है। बता दें कि राज्यपाल का ममता बनर्जी नीत सरकार के साथ कई मुद्दों पर टकराव चल रहा है। दोनों एक दूसरे पर लगातार आरोप लगाते रहे हैं वहीं राज्यपाल ने ममता सरकार पर गलत आरोप भी लगाए हैं। राज्यपाल को काले झंडे दिखाने का मामला पहले भी आ चुका है।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X