ताज़ा खबर
 

बंगाल: तृणमूल कार्यकर्ताओं के घरों पर फेंके गए बम, तीन की मौत, मृतक खैरुद्दीन का बेटा बोला- हमले के पीछे कांग्रेस

पश्चिम बंगाल में बीच राजनीतिक हिंसा के तहत मुर्शिदाबाद में टीएमसी कार्यकर्ताओं के घर पर फेंके गए बम में तीन लोगों की मौत हो गई। पीड़ित परिवार ने हमले के पीछे कांग्रेस का हाथ बताया है।

टीएमसी कार्यकताओं के परिजनों ने इस हमले के पीछे कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। (फोटोः एएनआई)

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। राज्य के मुर्शिदाबाद में शुक्रवार रात टीएमसी कार्यकर्ताओं के घरों पर बम फेंके गए। इस घटना में टीएमसी के तीन कार्यकर्ताओं की मौत हो गई। मरने वाले टीएमसी कार्यकर्ताओं की पहचान खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा के रूप में हुई है।

घटना के बारे में खैरुद्दीन के बेटे मिलन शेख ने कहा कि हम जब सो रहे थे तभी अचानक हमारे घर पर बम फेंके गए। उन लोगों ने मेरे पिता की गोली मारकर हत्या कर दी। मिलन ने कहा कि कुछ दिन पहले उसके चाचा को मार दिया गया था। उसने इस हमले के पीछे कांग्रेस का हाथ बताया।

जिले के टीएमसी नेता अबू ताहेर ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मरने वाले टीएमसी कार्यकर्ता है। मृतक के परिवार वालों ने इस घटना के पीछे कांग्रेस के साथ ही भाजपा को भी जिम्मेदार ठहराया है। इससे पहले राज्य में भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच पंचायत चुनाव के बाद लोकसभा चुनाव में लगातार हिंसा देखने को मिल रही है।

इस हिंसा के बीच राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। बैठक में टीएमसी के अलावा बीजेपी, कांग्रेस, भाजपा के साथ ही वाम दलों को भी आने का आमंत्रण दिया गया था। इस पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया। ममता का कहना था कि कानून व्यवस्था राज्य सरकार का विषय है। इससे राज्यपाल का कोई लेना देना नहीं है।

इससे पहले 9 जून को राज्य के बशीरघाट में हिंसा के दौरान भाजपा के दो और टीएमसी के एक कार्यकर्ता की मौत हो गई थी। नॉर्थ परगना के तहत आने वाले बशीरहाट में भाजपा के कार्यकर्ता प्रदीप मंडल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बंगाल में अपने कार्यकर्ताओं की मौत के बाद भाजपा के नेता मुकुल रॉय ने केंद्र सरकार से मामले में हस्तक्षेप करने को कहा था।

इसके साथ ही भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल भी बशीरहाट पहुंचा था। वहीं टीएमसी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में केंद्र की तरफ से पश्चिम बंगाल को भेजा गया परामर्श विपक्ष शासित राज्यों में ‘गहरा षड्यंत्र’और सत्ता हथियाने की चाल’ बताया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Gujarat: सेप्टिक टैंक में उतरे 4 सफाई कर्मचारियों समेत 7 की मौत, सीवेज के अंदर दम घुटने से हुआ हादसा
2 Jharkhand: दुमका में जंगली हाथी का तांडव, युवक को कुचल कर मार डाला
3 Haryana: बहन की शादी में जाने को नहीं मिली छुट्टी, डॉक्टर भाई ने फांसी लगाकर दी जान
ये पढ़ा क्या?
X