ताज़ा खबर
 

बुरहान वानी के मरने पर हिजबुल कमांडर बने जाकिर मूसा ने समर्थकों को भड़काया- इस्लाम की खातिर फौजियों पर बरसाओ पत्थर

12 मिनट के इस वीडियो में मूसा पुलिस में काम कर रहे कश्मीरियों और भारतीय सेना के जवानों को काफिर बताता है

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पिछले साल जुलाई में मारे गए हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद आतंकी संगठन की कमान संभालने वाले जाकिर मूसा ने सुरक्षा बलों के खिलाफ जहर उगला है। मंगलवार को सोशल मीडिया पर जारी हुए एक वीडियो में मूसा जम्मू-कश्मीर के प्रदर्शनकारियों को सुरक्षा बलों के खिलाफ भड़का रहा है। इस वीडियो में मूसा कहता है कि प्रदर्शनकारी घाटी में तैनात सुरक्षा बलों पर पत्थर फेंकें। वीडियो में अफगानी टोपी और एक भूरे रंग के स्वेटर पर कोट पहने मूसा उर्दू में कहता है कि जब भी हम बंदूक उठाते हैं या पत्थरबाजी करते हैं तो यह राष्ट्रवाद के लिए नहीं बल्कि इस्लाम के लिए होता है।

इंडिया टुडे से बातचीत में एक अफसर ने कहा कि अकसर आतंकवादी एेसा माहौल बनाने की कोशिश करते हैं, जिससे लोग भड़कें और सुरक्षाबलों पर हमला करें। आतंकवादी अॉपरेशनों को बाधित करने के लिए स्थानीय लोगों का इस्तेमाल करने को लेकर इस वीडियो में थोड़ी अस्पष्टता है। वीडियो डालकर लोगों को भड़काने का काम बुरहान वानी भी किया करता था। मूसा ने जम्मू-कश्मीर पुलिस और उसके खबरियों को खतरनाक अंजाम भुगतने की चेतावनी दी है। आतंकवादी कमांडर ने उनसे कहा है कि वह सशस्त्र बलों और अन्य एजेंसियों को समर्थन न दें। 12 मिनट के इस वीडियो में मूसा पुलिस में काम कर रहे कश्मीरियों और भारतीय सेना के जवानों को काफिर बताता है। वह कहता है कि युद्ध का समय आ चुका है और काफिरों के पास अब भी पश्चाताप का समय है। उसने यह भी कहा कि उसके पास सभी मुखबिरों के नाम हैं।

बता दें कि पिछले महीने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि जो लोग आतंकियों के एंकाउंटर में बाधा खड़ी करते हैं और सेना का मनोबल नहीं बढ़ाते वह भी एक तरह से आतंकियों के कार्यकर्ता ही है। वहीं उन्होंने यह भी कहा था कि जो लोकल लोग आईएसआईएस और पाकिस्तान के झंडे दिखाकर लोगों के बीच दहशत का माहौल पैदा करना चाहते हैं उन्हें भी राष्ट्रद्रोही माना जाएगा और उन्हें बक्शा नहीं जाएगा। बीते मंगलवार (14 फरवरी) को बांदीपुरा इलाके में आतंकियों के साथ हुई घुसपैठ में 2 जवान शहीद हो गए थे। वहीं 12 फरवरी को भी कुलगाम इलाके में दो जवान शहीद हुए थे।

लालकृष्ण आडवाणी हो सकते हैं देश के अगले राष्ट्रपति; पीएम मोदी ने सुझाया नाम, देखें वीडियोः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App