ताज़ा खबर
 

सेल्फी लेने में बिजी थे मां-बाप, सूरत की इस झील में डूब गई तीन साल की बच्ची

माता-पिता को बच्ची के डूबने के बारे में उसी वक्त पता चला जब शनिवार को उसका शव झील में से मिला। उससे पहले कपल ने शुक्रवार को बच्ची का अपहरण हो जाने की शिकायत की थी। शनिवार की सुबह बच्ची का शव फायर ब्रिगेड की टीम को मिला।

Author Published on: August 6, 2018 1:04 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फोटो सोर्स- पीटीआई)

सेल्फी लेने के चक्कर में हो रही मौतों का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा है। बहुत से लोगों की खतरनाक जगहों पर सेल्फी लेने की कोशिश में मौत हो चुकी है। कुछ लोग पहाड़ की चोटी से सेल्फी लेने के चक्कर में जिंदगी से हाथ धो बैठे हैं तो कुछ लोग तेज बहाव वाली नदी में सेल्फी लेने के चक्कर में, लेकिन गुजरात के सूरत में हाल ही में सेल्फी लेने के चक्कर में हुआ एक ऐसा हादसा सामने आया है जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे।

गुजरात के सूरत के अल्थान गार्डन में शुक्रवार को तीन साल की एक बच्ची की डूबकर मौत हो गई। यहां सबसे आश्चर्य की बात यह है कि बच्ची उस वक्त झील में डूबी जिस वक्त उसके माता-पिता सेल्फी लेने में बिजी थे। टीओआई के मुताबिक शुक्रवार की शाम जब बच्ची के माता-पिता सेल्फी लेने में उलझे हुए थे उस वक्त उनकी बच्ची झील में डूब रही थी। बच्ची का शव शनिवार को फायर ब्रिगेड के जवानों ने बरामद किया।

माता-पिता को बच्ची के डूबने के बारे में उसी वक्त पता चला जब शनिवार को उसका शव झील में से मिला। उससे पहले कपल ने शुक्रवार को बच्ची का अपहरण हो जाने की शिकायत की थी। शनिवार की सुबह बच्ची का शव फायर ब्रिगेड की टीम को मिला। इससे पहले झील के किनारे बच्ची का एक जूता मिला था, जिसके बाद झील में उसे खोजने के लिए ऑपरेशन शुरू किया गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया, जहां इस बात की पुष्टि हुई कि बच्ची की मौत पानी में डूबने से ही हुई थी।

पुलिस ने बताया, ‘शुक्रवार की शाम बच्ची के माता-पिता अपने दो बच्चों के साथ गार्डन में घूमने आए थे। जब बच्चे गार्डन में खेल रहे थे तब माता-पिता थोड़ा दूर चले गए। उसी वक्त बच्ची झील के पास गई और पानी में गिर गई।’ माता-पिता को जब बच्ची नहीं मिली तब उन्होंने पुलिस में शिकायत की। उन्होंने पुलिस को जानकारी दी कि वे लोग सेल्फी ले रहे थे और बच्चे गार्डन में खेल रहे थे। माता-पिता ने बाद में पुलिस को बताया कि उन्हें पता नहीं चला कि बच्ची कब झील के पास चली गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान- असम के एनआरसी में 40 फीसदी हिंदू