ताज़ा खबर
 

तमिलनाडु में जल्लीकट्टू के दौरान तीन की मौत, 25 घायल

पुलिस ने बताया कि पड़ोस के शिवगंगा जिले के सिरावायल में मांजाविरट्टू (बुल को काबू में करने का खेल जो कि जल्लीकट्टू से थोड़ा अलग होता है) देख रहे दो दर्शकों की मौत हो गई।

Author मदुरै | Published on: January 16, 2018 7:04 PM
Jallikattu, Three Persons Killed, Tamil Nadu, Pongal Festival, Pongal Festival in tamil Nadu, Tamil Nadu Jallikattu, Jallikattu 2018, death number in Jallikattu, Jallikattu death people, state newsइस बार अब तक जल्लीकट्टू में मरने वालों की संख्या बढ़कर चार हो गई है। (AP File Photo)

तमिलनाडु के विभिन्न स्थानों पर बैलों को काबू में करने वाले पारंपरिक खेल जल्लीकट्टू और मांजाविरट्टू के दौरान मंगलवार को तीन व्यक्तियों की मौत हो गई। इन खेलों को आयोजन पोंगल त्योहार के हिस्से के तौर पर किया गया। पुलिस ने बताया कि पड़ोस के शिवगंगा जिले के सिरावायल में मांजाविरट्टू (बुल को काबू में करने का खेल जो कि जल्लीकट्टू से थोड़ा अलग होता है) देख रहे दो दर्शकों की मौत हो गई। तिरुचिरापल्ली जिले के आवरंगाडू में जल्लीकट्टू के दौरान एक भड़के हुए बैल ने सोलई पांडियन नाम के एक व्यक्ति को मार डाला। इससे इस मौसम में बैल को काबू में करने वाले खेल में मरने वालों की संख्या बढ़कर चार हो गई है। सोमवार को इसी जिले के पालामेडू में एक बैल ने 19 वर्षीय दर्शक को मार डाला था।

तमिलनाडु के आलंगाल्लुर में आयोजित होने वाले विश्व प्रसिद्ध जल्लीकट्टू में मंगलवार को कम से कम 25 व्यक्ति घायल हो गए। मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया जिसमें 1100 बैल और 1500 खिलाड़ी शामिल हुए। इस मौके पर मौजूद उप मुख्यमंत्री ओ. पनीरसेल्वम ने कहा कि आलंगाल्लुर जल्लीकट्टू आयोजित करने के लिए एक स्थायी आयोजन स्थल बनाया जाएगा।

आलंगाल्लुर में बड़ी संख्या में दर्शक पहुंचे थे जिसमें विदेशी भी शामिल थे। विजेता को मिलने वाले इनाम में सोने के सिक्के से लेकर फर्नीचर शामिल था। पुलिस ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था के लिए करीब 1200 पुलिसर्किमयों की तैनाती की गई हैं। चिकित्सकीय टीमें भी मौके पर मौजूद थीं। मालूम हो कि तमिलनाडु के मदुरै जिले के पलामेदु इलाके में सोमवार को जल्लीकट्टू के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 11 प्रतिस्पर्धी जख्मी हो गए थे।

तमिलनाडु के राजस्व मंत्री आर बी उदयकुमार ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया था, जिसमें करीब 1,000 सांड़ों और सैकड़ों खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। पलामेदु जल्लीकट्टू के आयोजन के लिए एक प्रसिद्ध स्थान है। जल्लीकट्टू के खेल में विजयी हुए प्रतिर्स्पिधयों को आकर्षक पुरस्कार दिए गए। इसी तरह, खिलाड़ियों को मात देने वाले सांड़ों को भी पुरस्कृत किया गया। पुलिस ने बताया था कि करीब 1,200 जवानों की तैनाती कर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। घायल हुए 11 खिलाड़ियों का इलाज तुरंत मेडिकल कैंप में कराया गया और फिर उन्हें घर भेज दिया गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा नेता से पूछा- किस हैसियत से दायर की बोफोर्स मामले में अपील
2 अमेठी में जिस कॉलेज में गए राहुल गांधी, छात्रों ने मचाया उत्पात, नरेंद्र मोदी के समर्थन में लगाए नारे
3 तमिलनाडु: जिग्‍नेश मेवानी ने रिपब्लिक टीवी का माइक हटाने को कहा, टीवी पत्रकारों ने कर दिया बहिष्‍कार