ताज़ा खबर
 
title-bar

नालंदा में पत्रकार के बेटे के मर्डरर आरोपी पुलिस गिरफ्त में, जानें क्यों की मानसिक रूप से अस्थिर लड़के की हत्या

नालंदा में पत्रकार के बेटे की हुई हत्या के आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। बता दें कि तीन आरोपियों में से दो आरोपी नाबालिग हैं।

Author April 19, 2019 8:52 AM
प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

बिहार में नालंदा के एक पत्रकार के बेटे की हत्या के लिए दो नाबालिगों सहित तीन लोगों को गुरुवार (18 अप्रैल) को गिरफ्तार किया गया। बता दें कि 15 अप्रैल की रात चुन्नू का शव बरामद हुआ था। जिसके बाद पुलिस जांच में जुट गई थी। वहीं चुन्नू के शरीर पर चोट के भी निशान थे।

क्या है पूरा मामला: दरअसल पूरा मामला नालंदा जिले के हरनौत गांव का है। जहां मानसिक रूप से अस्थिर चुन्नू की 15 अप्रैल की हत्या कर दी गई थी। वहीं आंखों के पास चोट के निशान भी पाए गए थे। वहीं पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दाहिनी आंख के पास चोट के निशान का जिक्र किया गया है। इसके साथ ही मौत के कारण के रूप में ‘सिर पर तेज चोट के कारण न्यूरोजेनिक झटका’ बताया गया है।

National Hindi News, 19 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की हर खबर सिर्फ एक क्लिक पर

कौन है आरोपी: बता दें कि आरोपियों में से एक प्रेम प्रकाश, पत्रकार के भाई गोरेलाल सिंह का बेटा है। जो एक हत्या के मामले में जमानत पर बाहर है। वहीं इस मामले में पुलिस ने हत्या के पीछे गोरेलाल सिंह की पुरानी दुश्मनी का हवाला दिया है। हालांकि दैनिक हिंदुस्तान के नालंदा ब्यूरो प्रमुख आशुतोष कुमार आर्य ने कहा कि वह पुलिस के निष्कर्षों से सहमत नहीं थे और उन्हें संदेह था कि उनके बेटे पर आरोपियों द्वारा या तो यौन उत्पीड़न का गवाह बनने के लिए हमला किया जा सकता है या उन्हें शराब पीते देखा जा सकता है। अपराध स्थल पर कुछ गिलास और एक शराब का पाउच भी मिला है।

 

नालंदा एसपी का क्या है कहना: इस पूरे मामले पर नालंदा के एसपी निलेश कुमार ने कहा- ‘भले की आरोपी चुन्नू के साथ लड़ता हो लेकिन हम इस बात से सहमत नहीं है कि छोटी सी बात पर उसकी हत्या कर दी गई।’ वहीं उत्पीड़न के केस होने से भी इनकार करते हुए एसपी ने कहा- ‘हो सकता है कि आशुतोष ने उसके (प्रकाश) के पिता गोरेलाल सिंह की मदद नहीं की बेल के लिए, इसिलए प्रकाश उसके अंकल के खिलाफ हो गया हो और बदले के लिए बेटे की हत्या कर दी हो। हालांकि मामले की जांच जारी है।’ गौरतलब है कि पुलिस ने आरोपियों के घरों से खून से सना हुआ पेचकस और कपड़े बरामद किए हैं। इसके साथ ही एसपी ने कहा- मैं पुलिस की थ्योरी से पूरी तरह सहमत नहीं हूं। चूंकि जब गोरेलाल जेल में था तब मैंने प्रेम प्रकाश को अपने बेटे की तरह पाला पोसा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App