ताज़ा खबर
 

गोकशी और बीफ बेचने का आरोप लगाकर डेयरी में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़, 3 कथित गोरक्षक गिरफ्तार

आरोपियों की गिरफ्तारी के एक दिन बाद बजरंग दल जैसे दक्षिणपंथी ग्रुप्स ने डीडी नगर थाने के बाहर नारेबाजी की। उन्होंने डेरी मालिक उस्मान कुरैशी के खिलाफ क्रॉस एफआईआर दर्ज करने की मांग भी की।

Author रायपुर | May 27, 2019 8:27 AM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित गोकुल नगर की एक डेयरी में तोड़फोड़ और डेयरी मालिक के साथ मारपीट करने के मामले में पुलिस ने 3 कथित गोरक्षकों को गिरफ्तार किया है। गोरक्षकों का दावा था कि इस डेयरी में गोकशी होती है और यहां बीफ बेचा जाता है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि तीनों आरोपियों ने खुद को गोरक्षक बताया। यह पूरा मामला शनिवार (25 मई) का है। इसके एक दिन बाद रविवार को बजरंग दल जैसे कई दक्षिणपंथी संगठनों ने डीडी नगर थाने के बाहर प्रदर्शन किया। उनकी मांग थी कि डेयरी मालिक के खिलाफ भी केस दर्ज किया जाए।

शनिवार शाम हुई घटना: पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, शनिवार शाम गोकुल नगर इलाके में बवाल होने की जानकारी मिली थी। जांच में सामने आया कि गोरक्षकों का एक ग्रुप इलाके की एक डेयरी में घुस गया। उन्हें शक था कि इस डेयरी में गोकशी होती है और बीफ बेचा जाता है। उन्होंने डेयरी मालिक उस्मान कुरैशी और उनके सहयोगियों के साथ मारपीट भी की। साथ ही, डेयरी परिसर में जमकर तोड़फोड़ की। घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी की फुटेज के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

National Hindi News, 27 May 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

रविवार को हुआ प्रदर्शन: पुलिस ने बताया कि रविवार सुबह बजरंग दल जैसे दक्षिणपंथी संगठनों के करीब 50 सदस्य थाने पहुंचे। उन्होंने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया। साथ ही, डेयरी मालिक उस्मान कुरैशी के खिलाफ गोकशी की धाराओं में केस दर्ज करने की मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें डेयरी के पीछे हड्डियां मिली थीं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल गोकशी के संबंध में कोई सबूत नहीं मिला है।

तीनों गोरक्षक गिरफ्तार, भेजे गए जेल: एएसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया, ‘‘डेयरी में तोड़फोड़ व मारपीट करने वाले तीनों गोरक्षकों की पहचान अंकित द्विवेदी, अमरजीत सिंह और शुभंकर द्विवेदी के रूप में हुई है। उन्हें गिरफ्तार करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 427, 457, 323, 380 और 120बी के तहत केस दर्ज किया गया है।’’ वहीं, क्रॉस एफआईआर के सवाल पर प्रफुल्ल ठाकुर ने कहा कि फिलहाल किसी भी तरह की क्रॉस एफआईआर दर्ज नहीं की गई है, क्योंकि दूसरा पक्ष किसी भी तरह के अपराध में संलिप्त नहीं मिला है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X