ताज़ा खबर
 

कांग्रेस छोड़ने का मिल सकता है इनाम, गोवा में मंत्री बनाए जाएंगे तीन विधायक, शनिवार को कैबिनेट विस्तार

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ हाल में पार्टी में शामिल हुए सदस्यों ने बृहस्पतिवार को नयी दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की थी। सभी विधायक शुक्रवार को गोवा लौट आए।

Author नई दिल्ली | July 12, 2019 3:46 PM
सीएम सावंत का कहना है कि कांग्रेस विधायक अपनी मर्जी से भाजपा में शामिल हुए हैं। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

गोवा में कांग्रेस छोड़कर भाजपा मे शामिल होने वाले बागी विधायकों को पार्टी छोड़ने के इनाम के रूप में मंत्री पद मिल सकता है। खबर है कि सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल होने वाले कांग्रेस के तीन असंतुष्ट विधायकों समेत चार विधायकों को शनिवार को राज्य मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में 15 कांग्रेस विधायकों में से 10 बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए।

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ हाल में पार्टी में शामिल हुए सदस्यों ने बृहस्पतिवार को नयी दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की थी। सभी विधायक शुक्रवार को गोवा लौट आए। बहरहाल, सावंत गोवा में खनन के मुद्दे पर उच्च स्तरीय बैठक में भाग लेने के लिए वहीं रुक गए। उच्चतम न्यायालय के फरवरी 2018 में दिए आदेश के बाद से गोवा में खनन पर रोक लगी हुई है। बैठक शुक्रवार शाम को राष्ट्रीय राजधानी में होगी।

केंद्रीय मंत्री शाह और केंद्रीय खनन मंत्री प्रह्लाद जोशी बैठक में शामिल होंगे। भाजपा के एक शीर्ष सूत्र ने बताया कि 10 पूर्व कांग्रेस विधायकों में से तीन और विधानसभा के उपाध्यक्ष माइकल लोबो शनिवार को मंत्री पद की शपथ लेंगे। उन्होंने उन तीन पूर्व कांग्रेस विधायकों के नाम नहीं बताए जिन्हें मंत्री पद मिलेगा। लोबो से संपर्क करने पर उन्होंने पुष्टि की कि वह और तीन अन्य विधायक सावंत के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में शामिल होंगे।

सूत्रों ने बताया कि लोबो ने 10 कांग्रेस विधायकों को पार्टी में शामिल होने के लिए राजी किया था। उन्होंने बताया कि नए विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए सावंत चार मंत्रियों को हटाएंगे जिनमें से ज्यादातर भाजपा के सहयोगी दल के सदस्य हैं। सावंत ने बृहस्पतिवार को बताया कि मंत्रिमंडल में गठबंधन सहयोगियों की किस्मत पर फैसला गोवा लौटने के बाद लिया जाएगा।

बहरहाल, सूत्रों ने बताया कि गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के सभी तीन मंत्रियों को हटाने की संभावना है। साथ ही निर्दलीय विधायक और राजस्व मंत्री रोहन खुंटे को भी हटाने की संभावना है। जीएफपी के तीन मंत्रियों में उसके अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई, विनोद पालेकर और जयेश सालगांवकर शामिल है।

इस बीच, नयी दिल्ली से राज्य लौटे कावलेकर ने गोवा हवाईअड्डे पर पत्रकारों को बताया कि उन्होंने भाजपा में शामिल होने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि उनके विधानसभा क्षेत्र का इतने वर्षों में विकास नहीं हो पाया। कावलेकर के साथ जो विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं वह अतानासियो मोन्सेराते, जेनिफर मोन्सेराते, फ्रांसिस सिल्वेरा, फिलिप नेरी रॉड्रिग्स, सी डियाज, विल्फ्रेड डीसा, नीलकांत हलारंकार, इसिडोर फर्नांडीज और एंटोनियो फर्नांडीज हैं।

(भाषा से इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App