scorecardresearch

सुप्रीम कोर्ट के वकील के घर फेंका गया पर्चा, अल्‍लाह का पैगाम है तेरा भी सर तन से जुदा करेंगे जल्द ही

विनीत के मुताबिक उन्होंने अजमेर दरगाह के खादिम के बेटे आदिल चिश्ती के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। यह धमकी उस घटना के बाद आई है। इससे साफ है कि यह उसी केस में दी गई है।

सुप्रीम कोर्ट के वकील के घर फेंका गया पर्चा, अल्‍लाह का पैगाम है तेरा भी सर तन से जुदा करेंगे जल्द ही
अधिवक्ता विनीत जिंदल ने कहा है कि उन्हें अब तक कई बार धमकियां मिल चुकी हैं। (Photo- Twitter handle)

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता विनीत जिंदल के घर पर पर्चा फेंक कर उनको जान से मारने की धमकी दी गई है। अधिवक्ता विनीत जिंदल मंगलवार (26 जुलाई) की रात साढ़े आठ बजे जब अपने ऑफिस से घर पहुंचे तो उन्हें गेट के अंदर एक पर्चा मिला। उसमें उनको जान से मारने की धमकी वाली बात एक लाइन में लिखी थी। इस धमकी के बाद विनीत जिंदल ने पुलिस से सुरक्षा की मांग की है।

इंडिया टीवी से बात करते हुए अधिवक्ता विनीत जिंदल ने दावा किया कि उनको इस तरह से कई बार धमकियां मिल चुकी हैं। उन्होंने बताया कि पर्चे पर लिखा था, “अल्लाह का पैगाम हैं विनीत जिंदल तेरा भी सर तन से जुदा करेंगे जल्द ही।” पर्चा मिलने के तुरंत बाद उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। कुछ देर बाद डीसीपी घर आए और जानकारी ली। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

हालांकि पर्चा किसने फेंका, अभी इस बारे में पुलिस को जानकारी नहीं मिल पाई है। दिल्ली पुलिस की ओर से उनको बताया गया है कि मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। घर में लगे सीसीटीवी कैमरे आदि देखे जा रहे हैं। हालांकि पर्चा फेंकने वाले ने अपना मुंह ढंका हुआ था, इसलिए उसकी पहचान नहीं हो सकी है।

अजमेर दरगाह के खादिम के बेटे के खिलाफ दर्ज कराई थी शिकायत

विनीत के मुताबिक उन्होंने उदयपुर में दर्जी के सर काटने की घटना के बाद अजमेर दरगाह के खादिम के बेटे आदिल चिश्ती के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने आशंका जताई कि उस घटना के बाद यह पर्चा फेंका गया है। इससे साफ है कि यह धमकी उसी मामले में दी गई है। इसके पहले उन्हें खालिस्तान की मांग करने वालों की ओर से भी धमकी मिल चुकी है।

दिल्ली के प्रोफेसर के खिलाफ एफआईआर कराने पर भी मिली थी धमकी

अधिवक्ता विनीत ने बताया कि कुछ दिन पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने पर भी धमकी मिली थी। इस तरह की लगातार धमकियों के बाद अधिवक्ता विनीत जिंदल ने पुलिस से सुरक्षा की मांग की है। हालांकि उनको एक पीएसओ मिला है, लेकिन उसे केवल दिन में उनके साथ रहने की ड्यूटी दी गई है। विनीत ने पुलिस से रात के लिए भी सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए आवेदन किया है। फिलहाल अभी उस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट