ताज़ा खबर
 

केरल: SFI सदस्यों की बिना इजाजत कॉलेज में गाया गाना, छात्र को चाकुओं से गोद डाला, लेफ्टिस्ट स्टूडेंट विंग के खिलाफ प्रदर्शन

पुलिस ने बताया कि जिस छात्र के सीने में छुरा घोंपा गया है, वह अपने दोस्तों के साथ पेड़ के नीचे बैठा था। उसकी पहचान अखिल के रूप में की गयी है। वह राजनीति विज्ञान का छात्र है।

Author तिरुवनंतपुरम | Published on: July 13, 2019 9:23 AM
छात्र के पिता भी सीपीएम कार्यकर्ता हैं, छात्र पर पहले भी हमला हो चुका है। (फाइल फोटो)

केरल के यूनिवर्सिटी कॉलेज में एक छात्र को कथित रूप से बिना इजाजत गाना गाने पर चाकू घोंप दिया गया। छात्र की पहचान अखिल के रूप में हुई है। वही राजनीति विज्ञान की पढ़ाई कर रहा है। थर्ड इयर का यह छात्र भी एसएफआई का समर्थक बताया जा रहा है। घटना के बाद छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

घटना के बाद कॉलेज में हिंसा भड़क उठी। अस्पताल के सूत्रों बताया कि उसे आंतरिक रक्तस्राव हुआ है और उसकी ऑपरेशन करना होगा। हालांकि, छात्र की स्थिति स्थिर है। पुलिस ने बताया कि इस हमले में तीन अन्य छात्र भी घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि अखिल एक गीत गा रहा था जिससे एसएफआई के छात्रों को परेशानी हुई।

घटना से गुस्साए छात्रों ने आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। पुलिस ने बताया कि छह छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, इसमें असीम नाम का युवक भी शामिल है। माना जा रहा है कि इसी ने अखिल को चाकू घोंपा। पुलिस का कहना है नसीम पहले भी कई आपराधिक वारदातों मे लिप्त रहा है। इनमें कॉलेज परिसर में एक पुलिसकर्मी पर हमले का मामला भी शामिल है।

इससे पहले छात्रों ने मीडिया को बताया कि एसएफआई के 13 सदस्यों की यूनिट फासीवादी की तरह व्यवहार करती है। छात्रों ने कहा कि अखिल को उस समय चाकू मारा गया जब उसने उनके कहे अनुसार गाना नहीं गाया। अखिल के पिता चंद्रन भी सीपीएम कार्यकर्ता है। जांच अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने 20 अज्ञात छात्रों के खिलाफ इस संबंध में मामला दर्ज किया है।

अखिल, माक्सर्वादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के छात्र संगठन एसएफआई का सदस्य है। विश्वविद्यालय के सामने बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद हैं। माकपा सर्मिथत छात्र इकाई के दो गुटों के बीच पैदा हुए विवाद के परिणाम स्वरूप छुरेबाजी की यह घटना हुई है।

हादसे के तत्काल बाद क्रोधित छात्र कालेज द्वार के सामने सड़क पर जमा हो गए और न्याय की मांग करते हुए नारेबाजी की। विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथल्ला ने भी घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि एलडीएफ सरकार को राज्य शिक्षा विभाग से इस मामले में रिपोर्ट दाखिल करने को कहना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 झारखंड में 2 बच्चों के शव मिलने से हड़कंप, परिजनों ने बताया ‘नर बलि’, पुलिस ने कहा- यौन शोषण का मामला
2 Gujarat: तालाब के बीचोंबीच पीपल के पेड़ पर कई दिनों से फंसे थे चार बंदर, भारी बारिश के बीच वन विभाग की टीम ने ऐसे बचाई जान
3 धमकी समझिए या सुझाव, अयोध्या में कोई भी ताकत नहीं बनवा सकती मस्जिद: वेदांती