ताज़ा खबर
 

दिल्ली से ज्यादा प्रदूषित अब ये तीन शहर, लिस्ट में PM मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी भी शामिल

एक सर्वे की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि प्रदूषण के मामले में उत्तर भारत के तीन शहरों ने दिल्ली को भी पीछे छोड़ दिया है। इन शहरों में पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी भी शामिल है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर (Express Photo by Karma Sonam Bhutia)

राजधानी दिल्ली बीते काफी समय से प्रदूषण की वजह से लगातार चर्चा में बनी हुई है। लेकिन इस दौरान एक सर्वे की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि प्रदूषण के मामले में उत्तर भारत के तीन शहरों ने दिल्ली को भी पीछे छोड़ दिया है। इन शहरों में पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी भी शामिल है। रिपोर्ट के अनुसार पटना और कानपुर भी प्रदूषण के मामले में काफी आगे निकल गए हैं। खास बात यह है कि इस सर्वे की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस वर्ष भारत में चीन के मुकाबले करीब 50 प्रतिशत प्रदूषण बढ़ा है।

बता दें कि आईआईटी कानपुर और शक्ति फाउंडेशन के द्वारा एक सर्वे किया गया जिसमें पिछले साल के अक्टूबर- नवंबर महीने के 45 दिनों के आंकड़ों का अध्ययन कर एक रिपोर्ट बनाई गई। जिसमें कहा गया कि भारत में तेजी से प्रदूषण बढ़ रहा है। इस रिपोर्ट में कहा गया कि इस वर्ष देश में चीन की तुलना में 50 प्रतिशत अधिक प्रदूषण बढ़ा है। इसके अलावा पटना, कानपुर और वाराणसी की हवा अक्टूबर-नवंबर महीने में 170 माइक्रोग्राम्स पर क्युबिक मीटर से अधिक थी। यही नहीं पीएम 2.5 के पार्टिकल की वजह से लोगों को देखने में दिक्कत होने के साथ गंभीर स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं का सामना भी करना पड़ा है।

गौरतलब है कि सबसे प्रदूषित शहरों में दिल्ली अब चौथे नंबर पर है। सर्वे के मुताबिक पहले नंबर पर बिहार की राजधानी पटना, दूसरे नंबर पर यूपी का कानपुर और तीसरे नंबर पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी है। बता दें कि ये आंकड़े अक्टूबर-नवंबर 2018 के आंकड़ों पर आधारित है।

बिहार के पर्यावरण मंत्री का बयान- पटना में बढ़ते प्रदूषण को लेकर बिहार सरकार में मंत्री सुशील मोदी ने कहा कि पटना के बारे में प्रदूषण के ये आंकड़े चिंताजनक है। उन्होंने कहा हमने शहर के लिए एक एक्शन प्लान तैयार किया है जिसे जल्द लागू किया जाएगा। साथ सुशील मोदी ने कहा कि हमने निर्देश दिया है कि ईंट के भट्टे, बिल्डर्स आदि नियमों का पालन करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App