scorecardresearch

आधार नहीं था इसलिए पांच दिन से बाहर पड़ा रहा मरीज, अस्पताल पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने मारा छापा तब जाकर नसीब हुआ बेड

ब्रजेश पाठक बरेली के जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे थे, जहां पर उन्होंने सुविधाओं को बढ़ाने का निर्देश दिया।

आधार नहीं था इसलिए पांच दिन से बाहर पड़ा रहा मरीज, अस्पताल पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने मारा छापा तब जाकर नसीब हुआ बेड
ब्रजेश पाठक बरेली के जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे (फोटो सोर्स: @brajeshpathakup)

उत्तर प्रदेश के नए उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक पद ग्रहण करने के बाद से ही लगातार जिला अस्पतालों का दौरा कर रहे हैं और औचक निरीक्षण कर रहे हैं। पिछले 3 महीनों के अंदर ब्रजेश पाठक ने कई अस्पतालों का दौरा किया और अधिकारियों और डॉक्टरों को फटकार लगाई। कई बार तो ब्रजेश पाठक ने एक आम मरीज की तरह खुद ही लाइन में लगकर अस्पताल में सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की और लोगों की समस्या को महसूस किया।

इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक बरेली के जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे थें, जहां पर अव्यवस्था देख कर संबंधित स्वास्थ्य अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया और नाराजगी व्यक्त की। लेकिन ब्रजेश पाठक जैसे ही अस्पताल पहुंचे वहां पर एक मरीज के ऊपर नीचे बैठा हुआ था जिससे ब्रजेश पाठक ने जिसे उपमुख्यमंत्री ने बात की।

दरअसल एक बुजुर्ग व्यक्ति अस्पताल के गेट पर पिछले 5 दिनों से बैठे हुए थे और उन्हें अस्पताल में बेड नहीं मिल रहा था। ब्रजेश पाठक ने जब जानकारी ली तो पता चला कि बुजुर्ग व्यक्ति को बेड इसलिए नहीं मिल रहा था क्योंकि उनके पास आधार कार्ड नहीं था। उन्होंने बुजुर्ग मरीज से पूछा कि क्या हुआ है? मरीज ने बताया कि उनका हाथ टूट गया है। उसके बाद बृजेश पाठक ने संबंधित स्वास्थ्य अधिकारियों को उन्हें भर्ती कराने का निर्देश दिया।

उप मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद आनन-फानन में बुजुर्ग मरीज को तुरंत भर्ती कराया गया और उन्हें बेड प्रदान किया गया। बेड पाते ही बुजुर्ग मरीज रोने लगे। इसके बाद दुर्गेश पाठक ने उन्हें चुप कराया और उनके स्वस्थ होने की कामना की। ब्रजेश पाठक ने निरीक्षण को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा, “आज सिविल लाइन्स, जनपद बरेली में नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर वहाँ की जनस्वास्थ्य सुविधाओं एवं चिकित्सा कर्मियों की कार्यशैली का औचक निरीक्षण करते हुए।”

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कुछ दिन पहले राजश्री कॉलेज में छात्रों से अवैध वसूली के खिलाफ कार्रवाई की थी और जांच के आदेश दिए थे। उन्होंने ट्वीट कर बताया था, “समाचार पत्र में प्रकाशित राजश्री कॉलेज के एमबीबीएस छात्रों द्वारा अवैध वसूली के खिलाफ किए जा रहे धरना प्रदर्शन संबंधी खबर का संज्ञान लेते हुए मैंने महानिदेशक, चिकित्सा शिक्षा को समस्त बिंदुओं की मुख्यालय स्तर से जाँच कराकर कल शाम तक रिपोर्ट प्रस्तुत किए जाने के आदेश दिये हैं।”

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट