ताज़ा खबर
 

बिहारः डीजीपी आवास के बगल पूर्व मंत्री का घर, फिर भी हाथ साफ कर गए चोर

जिस घर में चोरी हुई, उसकी एक किमी की पारिधि में मुख्यमंत्री, हाईकोर्ट के जज, विधानसभा अध्यक्ष, विधान परिषद के सभापति, उपमुख्यमंत्री और कई अन्य वीवीआईपी लोगों के आवास हैं।

भाजपा नेता प्रेम कुमार का कहना है कि पुलिस ने उन्हें जल्द से जल्द चोरों को पकड़ने का भरोसा दिया है। (एक्सप्रेस फोटो)

बिहार में एनडीए सरकार के सुशासन और मजबूत कानून व्यवस्था के दावों की चोरों ने ही पोल खोल दी है। खुलासा हुआ है कि कुछ चोरों ने पूर्व मंत्री और विधानसभा की याचिका समिति के सभापति डॉक्टर प्रेम कुमार के घर पर धावा बोल दिया। चौंकाने वाली बात यह है कि उनका सरकारी आवास 3, सर्कुलर रोड है, जिसके ठीक बगल का बंगला- 2, सर्कुलर रोड डीजीपी एसके सिंघल का आवास है। इसके बावजूद चोरों ने प्रशासन की लापरवाही को उजागर करते हुए पूर्व मंत्री के घर से लाखों की चोरी कर ली।

इस मामले में पुलिस का भी बयान आया है। सचिवालय थाने के अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच चल रही है। चोरों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हालांकि, पुलिसिया लापरवाही की बात इसी से सामने आ जाती है कि जिस घर में चोरी हुई, उसकी एक किमी की पारिधि में मुख्यमंत्री, हाईकोर्ट के जज, विधानसभा अध्यक्ष, विधान परिषद के सभापति, उपमुख्यमंत्री और कई अन्य वीवीआईपी लोगों के आवास हैं।

बिहार में बेखौफ बदमाश, जदयू नेता की गर्भवती बेटी की गोली मारकर हत्या

खाली घर का पता लगा चोरों ने उठाया फायदा: प्रेम कुमार ने बताया कि वे 10 जुलाई को पत्नी के साथ अपने विधानसभा क्षेत्र गया चले गए थे। इस दौरान उनका एस्कॉर्ट भी साथ ही गया था। 11 जुलाई को उनका बेटा प्रेम सागर कोलकाता चला गया। इधर, 13 जुलाई को उनके सरकारी आवास पर तैनात गार्ड को गया, एसएसपी के आदेश पर हटा दिया गया।

इसके बाद जब 17 जुलाई की रात बेटा पटना पहुंचा और तौलिया निकालने के लिए आलमारी खोला तो उसके होश उड़ गए। आलमारी में लॉकर नहीं था। तब पता चला कि घर में चोरी हो गई है। पूर्व मंत्री के घर के बाहर से ही सीढ़ी है जिसका इस्तेमाल सफाई कर्मी करते हैं। माना जा रहा है कि चोर शौचालय के वेंटिलेशन से अंदर घुसे। हालांकि, घर में कहीं तोड़-फोड़ नहीं हुई।

घर से क्या-क्या हुआ चोरी?: चोर ने पूर्व मंत्री के बेटे प्रेम सागर के कमरे की आलमारी में रखे लॉकर को ही चुरा लिया। लॉकर में 2.25 लाख नकद और चांदी का एक कटोरा था। चोरी की जानकारी 17 जुलाई को हुई। उसी दिन प्रेम सागर ने सचिवालय थाने को मामले की जानकारी दी थी।

Next Stories
1 पटना में पानी-पानी: पंप लगा डिप्टी सीएम का घर बचाया, बाकी सारी जनता हलकान, 2019 में सुशील मोदी ने भी ली थी सड़क पर शरण
2 ‘मुख्यमंत्री ने कुछ गलत नहीं किया तो फिर FIR का डर क्यों’, अधिकारी के समर्थन में उतरे तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना
3 लालू-राबड़ी के बेटे तेज प्रताप बने बिजनेसमैन, शुरू किया अगरबत्ती का कारोबार
ये पढ़ा क्या?
X