ताज़ा खबर
 

अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर होगी दिल्ली में बनने वाली सबसे ऊंची इमारत

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने आईपी एस्टेट में एमसीडी के प्रस्तावित मुख्यालय का नाम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने का फैसला किया है। साउथ एमसीडी के सदन की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा गया था, जिस पर काफी विवाद हुआ। उत्तरी दिल्ली नगर निगम के इस प्रस्ताव पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। लेकिन अब दिल्ली में बनने वाली सबसे ऊंची इमारत का नाम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर होगा। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने आईपी एस्टेट में एमसीडी के प्रस्तावित मुख्यालय का नाम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने का फैसला किया है। बुधवार को साउथ एमसीडी के सदन की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। इसका नाम ‘अटल बिहारी वाजपेयी भवन’ होगा। सदन में यह प्रस्ताव साउथ एमसीडी मेयर नरेंद्र चावला ने रखा था। इस पर अन्य पार्षदों ने अपनी सहमति प्रदान की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अटल बिहारी वाजपेयी भवन दिल्ली की सबसे ऊंची इमारत होगी। इसकी ऊंचाई 145 मीटर होगी। यह 2020 तक बनकर तैयार हो जाएगी। इसमें 2500 से ज्यदा गाडि़यों की पार्किंग के लिए जगह होगी। 30 मंजिल वाले इस इमारत के निर्माण के लिए एमसीडी और एनबीसीसी के बीच करार हो चुका है। इसमें तमाम आधुनिक सुविधाएं मौजूद होंगी।

बता दें कि रामलीला मैदान बदलने के प्रस्ताव पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि, ” रामलीला मैदान इत्यादि के नाम बदलकर अटल जी के नाम पर रखने से वोट नहीं मिलेंगे। भाजपा को प्रधान मंत्री जी का नाम बदल देना चाहिए। तब शायद कुछ वोट मिल जायें क्योंकि अब उनके अपने नाम पर तो लोग वोट नहीं दे रहे।”

 

गौरतलब है कि अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों में ऐतिहासिक जगहों व इमारतों के नाम उनके नाम पर रखे जा रहे हैं। दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के ‘स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड आंत्रप्रेन्योरशिप’ का नाम बदलकर ‘अटल बिहारी वाजपेयी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड आंत्रप्रेन्योरशिप’ करने का फैसला किया है। रमन सिंह सरकार छत्तीसगढ़ की राजधानी का नाम ‘अटल नगर’ करने की तैयारी में है। बिलासपुर विश्वविद्यालय और राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज का नाम भी अटल जी के नाम पर करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा कई योजनाओं और स्थालों का नाम भी वाजपेयी जी के नाम पर करने का फैसला किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App