ताज़ा खबर
 

कानपुर: सिपाही ने यौन शोषण कर बनाया वीडियो, थाने पहुंचकर लड़की ने सुनाई आपबीती

पीड़िता के अनुसार मूलरूप से झांसी के चिरगांव में रहने वाला दीपक कॉन्स्टेबल है। वह कानपुर जनपद में बीजेपी विधायक महेश त्रिवेदी के गनर के रूप में कार्यरत था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

कानपुर के एसएसपी ऑफिस में बुधवार (25 अप्रैल) को पहुंची युवती ने एक पुलिसकर्मी पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। कानपुर के एसएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा कर जांच का आदेश दिया है। कानपुर एसएसपी ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर उक्त प्रकरण में थाना बर्रा में मु०अ०सं०-331/18 धारा-376/509 IPC पंजीकृत कर कार्रवाई की जा रही है। आरोपी सिपाही को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है।

पीड़िता के अनुसार मूल रूप से झांसी के चिरगांव का रहने वाला दीपक कॉन्स्टेबल है। वह कानपुर जनपद में बीजेपी विधायक महेश त्रिवेदी के गनर के रूप में कार्यरत था। बर्रा थाने में दीपक की तैनाती के दौरान युवती से शादी की बातचीत चली। दोनों के परिवारों में शादी के लिए दो साल पूर्व 29 सितंबर 2016 को बातचीत हुई। इसके बाद सिपाही ने युवती से मेलजोल बढ़ाना शुरू कर दिया और उनके बीच बातचीत होने लगी। पीड़िता ने बताया कि 3 सितंबर 2017 को सिपाही बहला-फुसलाकर उसको अपनी बाइक पर बैठाकर अपने कमरे में ले गया। वहां उसने होने वाली पत्नी का हवाला देकर शारीरिक संबंध बनाए। यही नहीं, उसने इसका अश्लील वीडियो भी बना लिया।

उसके बाद 29 सितंबर 2017 को गोद भराई व तिलक समारोह होने के बाद भी सिपाही अश्लील वीडियो दिखाकर शारीरिक संबंध बनाता रहा। लोक-लज्जा के डर से वह घरवालों को कुछ नहीं बता सकी। तिलक समारोह के तीन माह बाद सिपाही के परिजनों ने दहेज में बोलेरो कार की मांग की और असमर्थता जताने पर झगड़ा भी किया। इसके बाद से सिपाही उससे दूरी बनाने लगा था। बुधवार को युवती व उसके परिवार को जैसे ही पता चला कि सिपाही दूसरी जगह शादी करने जा रहा है, तो पीड़िता वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार के कार्यालय में  शिकायत करने पहुंची। एसएसपी ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी सिपाही के खिलाफ बर्रा थाने में मुकदमा दर्ज करने के साथ ही जांच के आदेश दिए।

थानाध्यक्ष भास्कर मिश्र ने बताया कि सिपाही के खिलाफ युवती व उसके परिजनों ने धोखाधड़ी, बलात्कार व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया है। सिपाही को पकड़ने के लिए टीमें लगा दी गई हैं। इस मामले में बीजेपी विधायक महेश त्रिवेदी ने बताया कि गनर आते-जाते रहते हैं। आरोपी सिपाही मेरा गनर रह चुका है। मौजूदा समय में वह हटा दिया गया है। इससे ज्यादा मुझे सिपाही की हरकतों के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App