ताज़ा खबर
 

उमा भारती का अजब तर्क, कहा- सांसों के उतार-चढ़ाव जैसी है मंदी, आई है तो चली भी जाएगी

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने कहा है कि देश में कहीं भी मंदी नहीं है, यह सिर्फ विरोधियों को मोदी के साहसिक फैसले से परेशानी की कुंठा है। देश में विकास और उन्नति का माहौल है।

Author देहरादून | Published on: September 20, 2019 1:00 PM
देहरादून में सभा को संबोधित करतीं पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेत उमा भारती (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

बीजेपी की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने गुरुवार को अर्थव्यवस्था में मंदी से इंकार किया। कहा कि यह एक फेज है जो जल्द ही चला जाएगा। उन्होंने इसकी तुलना सांस से करते हुए इंसान सांस को अंदर बाहर करता रहता है, लेकिन शरीर अपना काम सुचारू रूप से करता रहता है। कहा कि जब ऐतिहासिक फैसले होते हैं तो कुछ लोगों को चुभते हैं और वे ध्यान भटकाने के लिए मंदी जैसे आरोप लगाते हैं।  कहा कि मोदी सरकार के साहस को नकारने के लिए लोग मंदी-मंदी का शोर कर रहे हैं। कहा कि मंदी के दावे करने वालों में से कुछ जेल गए हैं, जैसे पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और कुछ अन्य लोगों ने स्वयं को ही जेल जैसे माहौल में बंद कर दिया है, जो जमीनी हकीकत से दूर हैं।

कहा- कहीं नहीं दिख रही मंदी  : गुरुवार को देहरादून में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के लाभ के बारे में लोगों को जागरूक करने के देशव्यापी अभियान को लेकर आयोजित बीजेपी के एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, “मंदी तो सांसों के आरोह और अवरोध की तरह होता है। सांस नीचे होती है, सांस ऊपर होती है, लेकिन शरीर पूरा का पूरा चल रहा होता है। उसका फंक्शन चल रहा होता है। मुझे कहीं कोई मंदी का दौर नहीं दिखाई दे रहा है।”

National Hindi News, 20 September 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

राष्ट्रवाद में आक्रामकता एक आवश्यकता : भारती ने कहा कि आर्थिक विकास का आकलन करने के लिए कई तरीके हो सकते हैं, लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि सभी लोग बिना किसी भेदभाव के रोजगार और जीविका प्राप्त कर रहे हैं, लेकिन आलोचकों को यह नहीं दिखेगा। उन्होंने आगे कहा कि जो लोग मंदी की बात कर रहे हैं, “उनमें से कुछ जेल चले गए जैसे चिदंबरम जी, और बाकी के जो लोग हैं, वे एक प्रकार से जेल में ही रहते हैं” भारती ने यह भी कहा कि हिंदू और हिंदुत्व कभी भी आक्रामक नहीं हो सकते, लेकिन राष्ट्रवाद में आक्रामकता एक आवश्यकता है। उन्होंने कहा, “हम आक्रामक राष्ट्रवाद की पूजा कर सकते हैं लेकिन आक्रामक हिंदुत्व की नहीं।”

धारा 370 और 35ए हटान ऐतिहासिक निर्णय : पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री का जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए हटाना एक ऐतिहासिक फैसला है। कहा कि यह आसान काम नहीं था। विरोधी दलों और अलगाववादियों को इसकी भनक तक नहीं लगी।  कहा बहुत जल्दी ही आपके पास कश्मीर का वह हिस्सा भी होगा, जिस पर अभी पाकिस्तान ने जबरन कब्जा किया हुआ है। जिसे आप पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) कहते हैं। अयोध्या में जल्द ही राम मंदिर बनेगा और गंगा की निर्मलता और अविरलता दिखेगी। उन्होंने 26 जनवरी 1952 को जम्मू कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने के लिए निकाली गई तिरंगा यात्रा का भी जिक्र किया। कहा कि इस यात्रा में पांच लाख लोग शामिल हो गए तब विवश होकर तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने 40 लोगों को तिरंगा फहराने के लिए जम्मू-कश्मीर भेजा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बिहार सरकार पर भड़के तेजस्वी यादव, बोले- मैं लालू का लाल, कभी नहीं करूंगा JDU-BJP से समझौता
2 KGMP में महर्षि वाल्मीकि की मूर्ति टूटने पर मायावती नाराज, कहा- यह दलितों को भड़काने की हरकत, कांग्रेस ने बीजेपी पर लगाया आरोप
3 Mumbai के कई इलाकों में हुआ गैस रिसाव, दहशत के कारण आधी रात में सड़कों पर निकल आए लोग