ताज़ा खबर
 

यूपी: जूता चुराने के शक में दूल्‍हे और चार दोस्‍तों ने इतना पीटा कि चली गई जान

उत्तर प्रेदेश के बदायूं जिले के बिल्सी क्षेत्र में दूल्हे के जूते चोरी करने के आरोप में हुई पिटाई से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

Author बदायूं | February 8, 2018 5:01 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रेदेश के बदायूं जिले के बिल्सी क्षेत्र में दूल्हे के जूते चोरी करने के आरोप में हुई पिटाई से एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि बिल्सी थाना क्षेत्र के सूरजपुर गांव में बुधवार को सुरेंद्र नामक व्यक्ति का विवाह समारोह आयोजित किया जा रहा था। लग्न के बाद सुरेंद्र के जूते गायब हो गए। सुरेंद्र और उसके साथियों ने पास में खड़े रामसरन (42) पर जूते चोरी करने का आरोप लगाते हुए हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि इस वारदात में रामसरन गम्भीर रूप से घायल हो गया। जिला अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

सूत्रों के मुताबिक मृतक की पत्नी मीरा देवी की ओर से गांव के सुरेन्द्र और उसके चार साथियों पर हत्या का मामला दर्ज कराया गया है। शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश में बदायूं जिले के उसहैत क्षेत्र में रिश्तेदार की अन्त्येष्टि से लौट रहे परिवार के वाहन और एक ट्रैक्टर-ट्रॉली के बीच हुई जबरदस्त टक्कर में एक ही परिवार की दो महिलाओं समेत तीन लोगों की मौत हो गई थी तथा छह अन्य गम्भीर रूप से घायल हो गए थे।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक चंद्र प्रकाश ने बताया था कि रात लगभग साढ़े 11 बजे उसहैत थाना क्षेत्र के नीरांनगला के पास एक पिकअप वाहन और बालू भरी ट्रैक्टर-ट्राली के बीच जोरदार भिड़न्त हो गई। इस हादसे में पिकअप वाहन के परखच्चे उड़ गए और उसमें बैठे सियाराम (60), कलावती (32) और वीरवती (21) की मौके पर ही मौत हो गई।

उन्होंने बताया था कि हादसे में रूपकिशोर, नेत्रपाल, मुकेश, पप्पू, सोमवती और अनीता गम्भीर रूप से घायल हो गए।हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। सियाराम और उनके परिवार के लोग अपने एक रिश्तेदार की अंत्येष्टि में शिरकत करने के बाद बजरमैरी गांव से अपने गांव जाटी लौट रहे थे। घटना के बाद पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App