ताज़ा खबर
 

Maharashtra: गड्ढे में फिसली लेडी डॉक्टर की स्कूटी, कुचलते हुए निकल गया ट्रक, अगले महीने होनी थी शादी

महाराष्ट्र के थाणे में अगले महीने होने जा रही शादी की खरीदारी के बाद 21 वर्षीय एक डॉक्टर रात में घर लौट रही थी। गड्ढे में फंसकर उसकी गाड़ी असंतुलित हुई तो वह सड़क पर गिर पड़ी और बगल से गुजरे ट्रक ने उसको कुचल दिया।

Author ठाणे | Published on: October 10, 2019 1:36 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

महाराष्ट्र के ठाणे जिले में बुधवार की रात 21 साल की एक डॉक्टर की ट्रक से कुचल कर मौत हो गई। वह शादी की खरीदारी करके रात में भाई के साथ घर लौट रही थी। सड़क पर बने गड्डे में गाड़ी के स्लिप करने से वह टू-व्हीलर से नीचे गिर गई थी। घटना के बाद कई लोगों ने पास में बने टोल बूथ पर हंगामा किया और सड़क पर गड्ढों की  जिम्मेदारी कंपनी के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की।

चौराहे पर गड्ढे में फंसने से गाड़ी असंतुलित हो गई थी  : ठाणे के सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) महेश सागड़े के मुताबिक कुडुस गांव की नेहा शेख (21) की अगले महीने शादी होने वाली थी। बुधवार की रात वह अपने भाई के साथ टू-व्हीलर से भिवंडी टाउन बाजार गई थी। वहां उसने शादी की खरीदारी करके देर रात घर लौट रही थी। दुगाध चौराहे के पास गड्ढे में फंसकर उसकी गाड़ी असंतुलित हुई तो वह सड़क पर गिर पड़ी। इसी दौरान बगल से गुजर रहे ट्रक के पहिए के नीचे आकर वह कुचल गई। घटना के बाद ट्रक ड्राइवर मौके से फरार हो गया।

National Hindi News, 10 October 2019 Top Headlines Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

अज्ञात ट्रक ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज  : एएसपी ने बताया कि अज्ञात ट्रक ड्राइवर के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 (लापरवाहीपूर्वक गाड़ी चलाने की वजह से मौत) के तहत मामला दर्ज कराया गया है। उन्होंने बताया कि अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। फिलहाल लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। आरोपी ट्रक ड्राइवर को पकड़ने की कोशिश की जा रही है।

श्रमजीवी संगठन के सदस्यों ने किया प्रदर्शन  : बाद में जनजातियों के कल्याण के लिए काम कर रहे श्रमजीवी संगठन के कई सदस्य घटनास्थल आंगांव टोल बूथ पर पहुंचे और आधी रात को इसको बंद करा दिया। संगठन के युवा विंग के अध्यक्ष प्रमोद पवार ने दावा किया कि गड्ढों से भरी सड़क पर इस साल कई लोगों की जाने जा चुकी हैं। उन्होंने मांग की कि सड़क निर्माण और रखरखाव की जिम्मेदार कंपनी और पीडब्ल्यूडी के खिलाफ केस दर्ज किया जाए। उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो वे टोल बूथ को काम नहीं करने देंगे और शांतिपूर्वक आंदोलन करने के लिए बैठे रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Maharashtra Elections से ऐन पहले शिवसेना को तगड़ा झटका, 28 पार्षदों ने दिया इस्तीफा, 300 ने छोड़ी पार्टी
2 CM कमलनाथ की निकाह स्कीम की नई शर्त, शौचालय में खड़े दूल्हे की ‘Selfie’ भेजो, तभी मिलेंगे 51000 रुपए!
3 ‘नशे और चालान की दिक्कतें तो आपके बेटे के MLA बनते ही दूर हो जाएंगी’, BJP कैंडिडेट के अजीबोगरीब वादे, Video Viral