ताज़ा खबर
 

टेरर फंडिंग मामले में NIA की बड़ी कार्रवाई: एक फोटो पत्रकार समेत दो लोगों को किया अरेस्ट

एनआईए के अनुसार भट्ट और यूसुफ पथराव की घटनाओं में शामिल थे और ऐसे युवाओं के समूहों को संगठित करते थे जो आतंकवाद के खिलाफ अभियान में सुरक्षाकर्मियों पर पत्थर फेंकते हैं।

Author September 5, 2017 9:11 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

कश्मीर घाटी में आतंकवादी और अलगाववादी गतिविधियों के फंडिंग की अपनी जांच जारी रखते हुए एनआईए ने आज (5 सितंबर) एक फ्रीलांस फोटो-पत्रकार सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार दोनों पत्थरबाजी और सुरक्षार्किमयों के खिलाफ सोशल मीडिया के जरिए समर्थन जुटाने में कथित तौर पर शामिल थे। उन्होंने बताया कि दोनों की पहचान कुलगाम के जावेद अहमद भट्ट और पुलवामा के कामरान यूसुफ के रूप में हुई है। यूसुफ स्थानीय समाचार पत्रों को तस्वीरें मुहैया कराता था। यह पहला मौका है जब राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए ने दक्षिणी कश्मीर से कोई गिरफ्तारी की है। इसके पहले 30 मई को एक मामला दर्ज किया गया था जिसमें पाकिस्तान स्थित जमात-उद-दावा तथा प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के नेता हाफिज सईद को आरोपी बनाया गया है।

एनआईए के अनुसार भट्ट और यूसुफ पथराव की घटनाओं में शामिल थे और ऐसे युवाओं के समूहों को संगठित करते थे जो आतंकवाद के खिलाफ अभियान में सुरक्षाकर्मियों पर पत्थर फेंकते हैं। यूसुफ को स्थानीय पुलिस ने कई बार चेतावनी दी थी। वह कथित तौर पर युवकों को एकत्र करता और स्थानीय तथा राष्ट्रीय समाचार पत्रों के लिए तस्वीरें खींचता था। दोनों को बुधवार को नई दिल्ली में विशेष एनआईए अदालत के सामने पेश किया जाएगा। अधिकारियों ने आरोप लगाया कि दोनों सोशल नेटवर्किंग साइटों पर भी तस्वीरें तथा वीडियो डालते थे, जिनसे घाटी में अफवाहें फैलती थीं। एनआईए कश्मीर घाटी में आतंकवाद और तोडफोड की गतिविधियों के कथित फंडिंग के मामले में सात लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App