ताज़ा खबर
 

उल्टा पड़ा राहुल गांधी का वंशवाद पर बयान, टीआरएस ने कहा ‘क्लासिक कॉमेडी’

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कल तेलंगाना के संगारेड्डी में मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा था वह केवल अपने परिवार का ध्यान रखते हैं।

Author June 3, 2017 6:33 PM
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी (PTI File Photo)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पर वंशवाद राजनीति को लेकर निशाना बनाए जाने पर पलटवार करते हुए टीआरएस नेता के टी रामा राव ने इसे ‘‘सहस्राब्दि का चुटकुला’’ करार दिया। मुख्यमंत्री के बेटे के टी रामाराव ने ट्विटर पर लिखा, ‘कोई राष्ट्रीय पार्टी का खुद को राष्ट्रीय नेता कहता है जो कि अपने गढ़ में भी चुनाव नहीं जीत सकता, वह दूसरी जगह लंबे दावे करता है ???? कांग्रेस नेतृत्व का परिवार शासन पर बात करना सहस्राब्दि का चुटकुला होगा। क्लासिक कॉमेडी??? ’’

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कल तेलंगाना के संगारेड्डी में मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा था वह केवल अपने परिवार का ध्यान रखते हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस पर आलोचना की और ट्विटर पर पोस्ट किया, ‘‘त्रुटिपूर्ण कॉमेडी? वंशवाद के बयान पर वंशवाद के समर्थक क्या बोलें इस पर गहन विश्लेषण।’’

बता दें कि शुक्रवार (2 जून) को राहुल गांधी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पर हमला बोलते हुए उनसे पूछा था कि क्या राज्य का गठन केवल उनके परिवार के फायदे के लिए हुआ है। राहुल ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने सही शुरूआत नहीं की और वे सही दिशा में नहीं जा रहे, इसलिए तीन साल में तेलंगाना के लोगों के सपने पूरे नहीं हो पाए।

मुख्यमंत्री के परिवार– उनके मंत्री–बेटे के टी रामा राव, बेटी एवं लोकसभा सदस्य के कविता, भतीजे एवं मंत्री हरीश राव का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधते हुए पूछा कि छात्र एवं किसान तेलंगाना के निर्माण के लिए लड़े थे या ‘एक परिवार’ के निर्माण के लिए। राहुल ने कहा, ‘‘क्या राज्य का गठन केवल चार लोगों के लिए किया गया था।’’

राहुल ने मुख्यमंत्री पर छात्रों, युवाओं, महिलाओं और पिछड़े वर्गों को साथ न लेकर चलने का आरोप लगाते हुए कहा कि केवल ठेकेदारों और खनन माफियाओं को फायदा पहुंचाया जा रहा है।

देखिए वीडियो - शंकरसिंह वाघेला पार्टी मीटिंग में नहीं हुए शामिल; राहुल गांधी को ट्विटर पर किया अनफॉलो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App