scorecardresearch

KCR ने दिया पीएम मोदी को 24 घंटे का अल्‍टीमेटम, सत्ता में कोई परमानेंट नहीं, सांकेतिक धरने पर बैठे

इसी वर्ष फरवरी महीने में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने भारत सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत भी मांगे थे।

k chandrasekhar rao, rakesh tikait
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव किसान नेता राकेश टिकैत के साथ धरने पर बैठे (फोटो सोर्स: @Ani)

पिछले कुछ महीनों से तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रहे हैं। अब एक बार फिर से तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी पर किसानों के मुद्दों को लेकर निशाना साधा है और पीएम मोदी को चेतावनी तक दे डाली है। इसी वर्ष फरवरी में विधानसभा चुनाव के दौरान के चंद्रशेखर राव ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत तक मांग लिया था। के चंद्रशेखर राव ने कहा कि सत्ता हमेशा के लिए नहीं होती है।

सोमवार को दिल्ली में चन्द्रशेखर राव किसान नेता राकेश टिकैत के साथ धान खरीद नीति को लेकर भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गए। वह अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ सांकेतिक धरने पर बैठ गए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि वे साजिश की सरकार चला रहे हैं। राव ने इस मुद्दे पर केंद्र के लिए 24 घंटे का वक्त दिया है कि सरकार उनकी बात माने।

वहीं के चंद्रशेखर राव ने एक सभा के दौरान दिए गए अपने बयान में कहा कि, “प्रधानमंत्री मोदी जी को मैं चेतावनी देना चाहता हूं कि आप किसी से भी खिलवाड़ कर सकते हो ,लेकिन किसानों से नहीं। भारत का इतिहास बताता है कि जहां भी किसानों को कष्ट हुआ है और उनकी आंखों से पानी निकला है वहां की सरकार सत्ता से बाहर हो गई है। यह शक्ति हमारे देश के किसान में है। सत्ता में कोई भी परमानेंट नहीं है लेकिन जब आप सत्ता में हो तब आप लोग नशे में होश खो चुके हैं। आप (पीएम मोदी) और आपके मंत्री राज्यों के मंत्रियों के साथ ऐसा व्यवहार करें, जिससे उनका अपमान हो ,यह मुझे बिल्कुल भी स्वीकार नहीं है।”

बीजेपी पर उसके विपक्षी आरोप लगाते रहते हैं कि बीजेपी विपक्ष के साथ बुरा व्यवहार करती है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कुछ दिन पहले संसद में भी कहा था कि, “लोकतंत्र में जो कुर्सी होती है यह परमानेंट नहीं होती है। कल कोई भी आ सकता है तो मिसयूज का भय मुझे भी हो सकता है। लेकिन मुझे भय नहीं लगता है क्योंकि मिसयूज होगा तो देश की अदालतें हैं। कुर्सी का गलत इस्तेमाल हुआ भी है और हम लड़ कर निकले भी हैं और अदालत ने चाटा भी लगाया है।”

बता दें कि इससे पहले फरवरी महीने में चंद्रशेखर राव ने मीडिया से बात करते हुए भारत सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगा था। हेमंत बिस्वा सरमा द्वारा राहुल गांधी पर दिए गए बयान के बाद के चंद्रशेखर राव ने कहा था कि मैं भी सबूत मांगता हूं, भारत सरकार दिखाएं कि सर्जिकल स्ट्राइक कहां हुई है? उन्होंने कहा था कि देश की जनता जानती है कि बीजेपी झूठा प्रचार करती है, इसलिए देश की जनता सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांग रही है।

पढें तेलंगाना (Telangana News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X