ताज़ा खबर
 

पॉश इलाके में जिस्मफरोशी का अड्डा, पुलिस ने किया भांडाफोड़, रूसी लड़की को छुड़ाया

गिरफ्तार शख्स पर दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और एग्रीमेंट पर रूसी सेक्स वर्कर को हैदराबाद लाने का आरोप भी लगा है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फोटो सोर्स सोशल मीडिया)

हैदराबाद पुलिस ने शुक्रवार (12 जनवरी, 2017) को हाई-प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ कर तीन महिलाओं को मुक्त कराया है। छुड़ाई गईं महिलाओं में एक रूसी नागरिक भी शामिल है। तीन अन्य आरोपियों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों की धड़पकड़ के लिए जांच पड़ताल कर रही टास्क फोर्स को गुरुवार को राजधानी के पोश इलाके बंजारा हिल्स में जिस्मफरोशी का रैकेट होने की खबर मिली थी। जिसके बाद पुलिस ने वैश्यावृति के दो घरों में छापा मारकर तीन महिलाओं को मुक्त कराया। वारदात स्थल से छह मोबाइल फोन, एक पासपोर्ड और करीब चालीस हजार रुपए भी बरामद किए गए हैं।

वहीं पुलिस ने जिन तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें रियल स्टेट बिजनेसमैन कुरियल थाराइल जैकब, यमला मैरी और पंकज कुमार मंडल शामिल है। आरोप है कि तीनों वैश्यावृति में शामिल दो घरों का संचालन कर रहे थे। हालांकि अभी एक आरोपी फरार है। पुलिस ने आगे बताया कि जैकब को साल 2011 में इसी तरह के आरोपों में गिरफ्तार किया गया था। जेल से रिहा होने के बाद उसने अपना रैकेट जारी रखा।

खबरों के अनुसार कथित तौर पर जैकब दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और एग्रीमेंट पर रूसी सेक्स वर्कर को हैदराबाद लाने का आरोप भी है। रूसी महिला को वह हर दिन 16,000 रुपए देता था। पंकज ग्राहकों को लाने का काम करता था। वहीं रूसी महिला की निशानदेही के आधार पर पुलिस ने दो अन्य महिलाओं को दिल्ली और पश्चिम बंगाल से मुक्त कराया है।

गौरतलब है कि पूर्व में भी पश्चिम बंगाल के कोलकाता स्थित बड़ा बाजार में स्थानीय पुलिस ने एक सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ किया था। लेकिन पुलिस आरोपी को दबोचने में असफल रही। पुलिस के मुताबिक जिस्म फरोशी का धंधा चलाने वाला आरोपी रेप के मामले में सजा काट रहा बाबा गुरमीत राम रहीम का अनुयायी है। आरोपी अपने एक गेस्ट हाउस में देह व्यापार का धंधा चला रहा था। पुलिस ने 5 जनवरी को दबिश देकर मामले से पर्दा उठाया।

पुलिस को देह व्यापार चलाए जाने की खबर स्थानीय लोगों से मिली थी। पुलिस की रेड के दौरान आरोपी प्रमोद सिंघानिया एक सुरंग के जरिए फरार हो गया। आरोपी ने भविष्य में पुलिस कार्रवाई की संभावनों के चलते ही सुरंग बनवाई थी। सुंरग के प्रवेश द्वार में लगे लकड़ी के दरबाजों पर कपड़े ढके हुए मिले थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App