ताज़ा खबर
 

घर को रखें साफ-सुथरा, इनाम में जीते सकते हैं सोने का सिक्का या ज्वैलरी

टीआरएस के पार्षद बंगारी प्रकाश इन दिनों गुदीमलकार में लोगों के घर जा रहे हैं और उन्हें सोना देने का वादा कर रहे हैं कि स्वच्छता रखने वालों को इनाम के रूप में सोना मिल सकता है।

Author हैदराबाद | Published on: January 22, 2017 8:00 PM
घर की साफ सफाई कर जीत सकते हैं सोना। (Express Photo by Kamleshwar Singh)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता अभियान के जरिए देश को स्वच्छ बनाने का अभियान चलाया था। इस अभियान के तहत लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक किया गया। अब हैदराबाद में एक पार्षद ने घर साफ सुथरा रखने वालों सोने देने का ऐलान किया है। यानी कि आप अपना घर और उसके आस-पास का एरिया साफ रखकर सोना जीत सकते हैं।

टीआरएस के पार्षद बंगारी प्रकाश इन दिनों गुदीमलकार में लोगों के घर जा रहे हैं और उन्हें सोना देने का वादा कर रहे हैं कि स्वच्छता रखने वालों को इनाम के रूप में सोना मिल सकता है। उनके पूरे डिवीजन में 60 घरों को उचित स्वच्छता बनाए रखने के लिए और कचरा को अलग-अलग सही से रखने के आधार पर चिह्नित किया जाएगा। जिसमें से 10 लोगों को एक ग्राम का सोने का सिक्का मिलेगा। बाकी को परिवार को प्रशंसा प्रमाण पत्र दिया जाएगा। यह स्कीम फरवरी महीने से शुरू होगी।

वर्तमान में चल रहे स्वच्छ सर्वेक्षण सर्वे के हिस्से के रूप में शहर में जीएचएमसी के पार्षद, जीएचएमसी वार्ड सदस्यों के साथ अपने डिवीजन में प्रचार कर रहे हैं। लोगों से आग्रह कर रहे हैं कि आगामी सर्वेक्षण में हैदराबाद को वोट करें। प्रकाश ने डेक्कन क्रॉनिकल को बताया कि लोगों को उपहार ज्वैलरी या सिक्के के रूप में दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कुल 60 घरों की पहचान की जाएगी, जिसमें से 10 घरों को एक ग्राम भार का सोना दिया जाएगा। यह आभूषण या सिक्के के रूप में होगा। मैं इसका सारा खर्च उठाउंगा। उन्होंने बताया कि 10 कैंडिडेट्स का सेलेक्शन लकी ड्रॉ के माध्यम से किया जाएगा। जिसका आयोजन 6 फरवरी को किया जाएगा। डिवीजन नंबर 93 में करीब एक लाख लोग रहते हैं और यहां करीब 25 हजार घर बने हैं। जिनमें विकसित कालोनियां और अर्बन स्लम शामिल है।

इससे पहले किए गए स्वच्छता सर्वेक्षण में देशभर के  प्रमुख 73 शहरों में कर्नाटक का मैसूर शहर सबसे स्वच्छ घोषित किया गया, जबकि झारखंड का धनबाद सबसे निचले पायदान पर है। स्वच्छता के लिए पिछला सर्वेक्षण एक लाख और इससे अधिक की जनसंख्या वाले 476 शहरों में साल 2014 में किया गया था।

वीडियो: गुजरात के नर्मदा जिले में लोग शौचालयों के साथ सेल्फी ले रहे हैं, जानिए क्यों

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- हिन्दूवादी ताकतों के लिए सबक है चेन्नई में जल्लीकट्टू पर बैन का विरोध
2 चाइल्ड पोर्न मामले में इंटरपोल से संपर्क करेगी तेलंगाना पुलिस
3 हैदराबाद में खुली देश की सबसे बड़ी शराब की दुकान, यहां मिलते हैं liquor के करीब 500 ब्रांड
जस्‍ट नाउ
X