ताज़ा खबर
 

जो पार्टी में नहीं, कांग्रेस ने उन्‍हें बना दिया चुनाव समिति का सदस्‍य, बाद में नाम हटाया

तेलंगाना विधानसभा का कार्यकाल पूरा होने से लगभग आठ महीने पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (राव फिलहाल कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं) की सिफारिश पर छह सितंबर को राज्य विधानसभा को भंग कर दिया गया था।

Author September 20, 2018 10:40 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

तेलंगाना विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस ने बुधवार (19 सितंबर, 2018) को कई चुनावी समितियों की घोषणा की। हालांकि इस दौरान कुछ नेताओं द्वारा पार्टी छोड़ने और कुछ के पार्टी में शामिल होने का सिलसिला लगातार जारी रहा। इसलिए कांग्रेस के लिए स्पष्ट करना थोड़ा मुश्किल हो गया कि कौन पार्टी में शामिल है और कौन छोड़ रहा है। ऐसे में जब पार्टी ने कांग्रेस की विभिन्न समितियों में शामिल नेताओं की लिस्ट जारी की तो इसमें पूर्व स्पीकर केआर सुरेश रेड्डी को 53 सदस्यों वाली समन्वय समिति का सदस्य बनाया गया। यहां खास बात यह है कि रेड्डी करीब एक सप्ताह पहले ही कांग्रेस को अलविदा कह चुके हैं। इस वक्त वह टीआरएस में शामिल हैं। बाद में ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) को अपनी भूल का एहसास हुआ तो इस गलती को सुधार लिया गया और रेड्डी का नाम समन्वय समिति की लिस्ट से हटा दिया गया। केआर रेड्डी महज एक साल पहले कांग्रेस में शामिल हुए थे। उन्हें कांग्रेस द्वारा पार्टी कार्यकारी अध्यक्षों में से एक नियुक्त किया गया था। इसके अलावा कांग्रेस ने एक्टर से पॉलिटीशियन बनीं विजयशांति को अपना स्टार प्रचारक और चुनाव प्रचार कमेटी का सलाहकार नियुक्त किया है।

यहां बता दें कि कांग्रेस विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं करेगी। कांग्रेस यहां तेदेपा, भाकपा और तेलंगाना जन समिति के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी। पार्टी के एक महत्वपूर्ण नेता ने बुधवार को यह जानकारी दी है। तेलंगाना में ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के प्रभारी आर सी खूंटिया ने बताया कि कांग्रेस में किसी भी विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं करने की अपनी पुरानी परिपाटी रही है। खूंटिया ने बताया, ‘तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी चुनाव प्रचार अभियान का नेतृत्व करेंगे लेकिन मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम पर चुनाव के बाद अंतिम फैसला किया जाएगा।’ उन्होंने कहा, ‘इस पर चुनाव का परिणाम आने के बाद विधायकों की राय जानने और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मिलकर चर्चा करने के बाद ही अंतिम निर्णय किया जाएगा।’

तेलंगाना विधानसभा का कार्यकाल पूरा होने से लगभग आठ महीने पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (राव फिलहाल कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं) की सिफारिश पर छह सितंबर को राज्य विधानसभा को भंग कर दिया गया था। चुनाव आयोग ने अभी तक राज्य में चुनाव के कार्यक्रमों की घोषणा नहीं की है। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App