ताज़ा खबर
 

आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का मोदी सरकार पर हमला- वादे निभाने में रहे हैं नाकाम

मुख्यमंत्री नायडू नीलम संजीव रेड्डी मैदान में स्वाधीनता दिवस के मौके पर ध्वजारोहण और सलामी गारद समारोह के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे।

Author अनंतपुरम | August 15, 2016 3:57 PM
आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चन्द्रबाबू नायडू की फाइल फोटो।

आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चन्द्रबाबू नायडू ने सोमवार को नरेन्द्र मोदी सरकार पर राज्य से किये गये ‘वादों का सम्मान करने में विफल’ रहने का आरोप लगाते हुए दूसरा हमला किया। उन्‍होंने केन्द्र से ‘आखिरी पैसा’ वसूल करने तक आराम नहीं करने की कसम खाई। मुख्यमंत्री ने 70वें स्वाधीनता दिवस के मौके पर कहा, ‘‘वे (केन्द्र सरकार) हमारे राजस्व घाटे की भरपाई के लिए धन मुहैया नहीं करा रहे हैं। वे न तो पोलावरम सिंचाई परियोजना के लिए पैसा दे रहे हैं और न ही आन्ध्र प्रदेश और तेलंगाना के बीच के विवादास्पद मुद्दो को सुलझाने के लिए कोई प्रयास कर रहे हैं।’’ मुख्यमंत्री यहां नीलम संजीव रेड्डी मैदान में स्वाधीनता दिवस के मौके पर ध्वजारोहण और सलामी गारद समारोह के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने केन्द्र से अपने वादे निभाने, राज्य को विशेष राज्य का दर्जा देने और विशाखापत्तनम में नया रेलवे जोन बनाए जाने की मांग की। चन्द्रबाबू ने कहा, ‘‘हम केन्द्र से आन्ध्र प्रदेश पुनर्गठन कानून-2014 के लिए किए गए अपने वादे को निभाने के लिए लगातार बातचीत कर रहे हैं और इसके लिए कोष जारी करने के लिए कह रहे हैं। मैंने प्रधानमंत्री मोदी से कई बार आन्ध्र प्रदेश का विकास अन्य राज्यों के बराबर पहुंचने तक राज्य का समर्थन करने की गुजारिश की है। हम राज्य के विभाजन के बाद आन्ध्र प्रदेश से किए गए वादों को निभाने के लिए लड़ रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘केन्द्र से अपना आखिरी पैसा वसूल करने तक मैं चैन से नहीं बैठूंगा। मुझे इसके लिए आप लोगों के सहयोग की जरूरत है।’’

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 16230 MRP ₹ 29999 -46%
    ₹2300 Cashback
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback

PM मोदी के भाषण से निराश चीफ जस्टिस ठाकुर ने कहा- डेढ़ घंटे बोले लेकिन जजों पर एक शब्‍द नहीं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App