ताज़ा खबर
 

ओवैसी की पीएम मोदी और अमित शाह को खुली चुनौती, बोले- हैदराबाद में मुझसे जीत के दिखाएं

धर्मनिरपेक्षता की बातों पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग इसकी बात करते हैं वो सबसे बड़े डाकू हैं। सबसे बड़े पाखंडी हैं। इन्होंने 70 सालों तक मुसलमानों का सिर्फ इस्तेमाल किया है। हमें आतंक में रखा गया।

असदुद्दीन ओवैसी। (फोटो- एएनआई)

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने चुनौती दी है कि उनके संसदीय क्षेत्र से कोई चुनाव लड़कर दिखाए। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक AIMIM चीफ ने कहा है कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा आध्यक्ष अमित शाह को चुनौती देते हैं कि वो हैदराबाद संसदीय सीट से चुनाव लड़ें। उन्होंने कांग्रेस को भी चनौती दी। ओवैसी ने चुनौती भर शब्दों में कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियां मिलकर भी हैदराबाद से उन्हें हरा नहीं सकती।

बता दें कि ओवैसी ने पिछले कई दिनों से कांग्रेस के खिलाफ सख्त तेवर अपनाए हुए हैं। उन्होंने भाजपा पर भी निशाना साधते हुए कहा कि दोनों पार्टियां हिंदू वोटबैंक के लिए परेशान हैं। ओवैसी ने आरोप लगाया कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा ने एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया। लोकसभा में भी एक भी मुस्लिम सांसद नहीं है। MIM चीफ ने आरोप लगाते हुए आगे कहा कि कांग्रेस भी इसी नीति पर आगे चल रही है। दोनों पार्टियां हिदूं वोट बैंक के लिए परेशान हैं। भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी के बयान पर उन्होंने कहा कि सच तो यह कि मुस्लिम कभी वोट बैंक नहीं रहा है। इस समाज को तो हमेशा वोट बैंक बताकर ठगा गया है।

मुस्लिमों से मुस्लिम उम्मीदवार को वोट देने की अपील करने वाले ओवैसी ने हापुड़ में भीड़ द्वारा मुस्लिम शख्स की हत्या पर तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि मुस्लिम मिलकर लड़ें। उन्होंने कहा कि मैं भीड़ में बैठने और कासिम की मौत पर रोने के लिए नहीं कह रहा हूं। मैं तो आपके जमीर को झकझोर रहा हूं। उठो और तैयार हो जाओ।

धर्मनिरपेक्षता की बातों पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग इसकी बात करते हैं वो सबसे बड़े डाकू हैं। सबसे बड़े पाखंडी हैं। इन्होंने 70 सालों तक मुसलमानों का सिर्फ इस्तेमाल किया है। हमें आतंक में रखा गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App