ताज़ा खबर
 

हैदराबाद: दलित भक्त को कंधे पर बिठा पुजारी ने कराए मंदिर के दर्शन

भाईचारे की मिसाल इस नजारे को जिसने भी देखा उसने पूरे उत्साह के साथ इसका स्वागत किया। मंदिर में कई बड़े देवस्थलों के पुजारी और तेलंगाना सरकार के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

फोटो क्रेडिट- टाइम्स ऑफ इंडिया

हर इंसान बराबर है का संदेश देते हुए एक हिंदु पुजारी दलित व्यक्ति को कंधे पर बिठा कर शहर के मशहूर रंगनाथ स्वामी मंदिर तक ले गया। पुजारी के इस कदम को लोग एक मिसाल की तरह देख रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चिल्कुर के बालाजा मंदिर के पुजारी सी एस रंगराजन ने दलित समुदाय के शख्स आदित्या परसरी को अपने कंधे पर उठाकर मंदिर के दर्शन कराए। घटना सोमवार की है जब मंदिर में जयकारों की गूंज, फूलों से सजावट और वैदिक मंत्रों के उच्चारणों के बीच पुजारी रंगराजन 25 वर्षीय दलित युवक आदित्य को अपने कंधे पर उठाकर मंदिर पहुंचे और युवक को गर्भगृह ले जाकर दर्शन करवाए। पुजारी रंगराजन ने इस बारे में मीडिया को बताया, ‘यह 2700 साल पुरानी एक घटना की ही पुनरावृत्ति है, जिसे मुनि वाहन सेवा के नाम से जानते हैं। इस परंपरा को सनातन धर्म का असली संदेश पहुंचाने और समाज में बराबरी का संदेश के लिए निभाया जाता है।’

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में कई लोग अपने निजी स्वार्थों के चलते देश का माहौल खराब कर रहे हैं। दलित युवक को कंधे पर उठाने का विचार कहां से आया, इस बारे में उन्होंने कहा, ‘जनवरी महीने में मैं उस्मानिया विश्वविद्यालय में आयोजित एक सम्मेलन में गया था, जहां इस बात की चर्चा की गई कि किस तरह पिछड़ी जातियों के लोगों को मंदिर में घुसने नहीं दिया जाता।’

भाईचारे की मिसाल इस नजारे को जिसने भी देखा उसने पूरे उत्साह के साथ इसका स्वागत किया। मंदिर में कई बड़े देवस्थलों के पुजारी और तेलंगाना सरकार के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App