ताज़ा खबर
 

तेलंगाना के मुख्यमंत्री बोले- कोरोना पर डरा रहा मीडिया, मैं पैरासिटामॉल खाकर ही ठीक हो गया

तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव ने मीडिया पर आरोप लगाते हुए कह, "ये लोग लोगों को इतना डरा रहा है। इस तरह के गैरजरूरी सनसनी फैलाने की क्या जरूरत?"

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र हैदराबाद | Updated: June 23, 2021 10:12 AM
तेलंगाना के मुख्यमंत्री कें चंद्रशेखर राव का कोरोना संक्रमण को लेकर मीडिया पर हमला। (एक्सप्रेस आर्काइव)

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने आरोप लगाया है कि मीडिया कोरोनावायरस को लेकर गलत जानकारी फैला रही है, जिससे लोगों में डर फैला हुआ है। उन्होंने यहां तक दावा किया कि वो सिर्फ पैरासिटामॉल और एंटीबायोटिक दवाएं खाकर ही ठीक हो गए।

गौरतलब है कि केसीआर इसी साल अप्रैल में कोरोना संक्रमित पाए गए थे। उनके मुताबिक, उन्हें सिर्फ दो दवाओं की बदौलत हफ्तेभर के अंदर ही कोरोना से उबरने में मदद मिली। वारंगल में एक कार्यक्रम में भाषण के दौरान केसीआर ने कहा, “पता नहीं कौन ब्लैक फंगस, यलो फंगस के बारे में गलत जानकारी फैला रहा है। पता नहीं कोई टीवी चैनल है या पेपर। पता नहीं फंगस जिंदा है या अजीवित, लेकिन लोग तो ऐसी बातें सुनकर ही मर जा रहे हैं। ये टीवी के लोग, मैं आपको बता रहा हूं, इन्हें श्राप लगेगा।”

केसीआर यहीं नहीं रुके, उन्होंने मीडिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि मीडिया अपनी गलत जानकारी के फैलाव को रोकने की जिम्मेदारी के विरुद्ध काम कर रहा है। अपने कोरोना संक्रमित होने के अनुभव को साझा करते हुए केसीआर ने कहा कि उन्हें डॉक्टर से सिर्फ दो दवाएं मिलीं और वे हफ्ते भर में ही ठीक हो गए। राव ने आगे कहा कि ये लोग (मीडिया) लोगों को इतना डरा रहा है। इस तरह के गैरजरूरी सनसनी फैलाने की क्या जरूरत है?

तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने राज्य में कोरोना की स्थिति और हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को लेकर भी मीडिया को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि मीडिया असल में जमीनी हकीकत को गलत तरह से पेश कर रही है। उन्होंने कहा, “क्या सामान्य स्थितियों में भी सरकारी अस्पताल में खाली बिस्तर मिलते हैं? डॉक्टर कभी मरीजों को इलाज से मना नहीं करते, क्योंकि वे जानते हैं कि सिर्फ गरीब ही सरकारी अस्पताल में जाते हैं। इसलिए अगर बेड्स नहीं होते, तो भी वे उन्हें जमीन पर रुकने के लिए कहते हैं और उनका इलाज करते हैं। लेकिन ये मीडिया के लोग क्या करते हैं? ये फोटो खींचते हैं और कहते हैं कि मरीजों को सरकारी अस्पताल की फर्श पर सोने को मजबूर होना पड़ा।”

तेलंगाना में क्या रहे कोरोना के हाल?: गौरतलब है कि तेलंगाना में कोरोनावायरस महामारी ने काफी कहर बरपाया। यहां कोरोना के 6.15 लाख केस मिल चुके हैं। फिलहाल राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या भी 16 हजार के पार है। इसके अलावा अब तक कुल 3586 लोगों की संक्रमण से जान भी जा चुकी है। चौंकाने वाली बात ये है कि राज्य सरकार ने अब तक कोरोना के 1.8 करोड़ टेस्ट ही करवाए हैं, जबकि इससे छोटे कई राज्यों में काफी पहले ही दो करोड़ टेस्ट्स का आंकड़ा पार हो चुका है।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X