ताज़ा खबर
 

तेजस्वी का आरोप- बिहार आकर दंगा करने की ट्रेनिंग दे गए मोहन भागवत

इससे पहले तेजस्वी यादव के पिता और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भी राज्य में हो रहे दंगों को लेकर सवाल उठाया था। लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि राज्य की सरकार राज्य में हो रहे सांप्रदायिक संघर्ष को रोक पाने में बिल्कुल ही नाकाम है।

तेजस्वी यादव – बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री

बिहार के अलग-अलग जिलों में हुए सांप्रदायिक दंगों  ने राज्य की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया है। इस बीच इस मामले पर सियासत भी तेज हो गई है। राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव इस मुद्दे पर राज्य सरकार पर जमकर हमला बोल रहे हैं। तेजस्वी यादव ने इस बार ट्वीट कर बीजेपी और संघ को आड़े हाथों लिया है। राजद नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मोहन भागवत ने हाल के दिनों में 14 दिनों तक बिहार का दौरा किया था। इन 14 दिनों में उन्होंने रामनवमी के दौरान दंगे फैलाने की ट्रेनिंग दी। अब लोगों को समझ में आ गया है मोहन भागवत के बिहार आने का मकसद।

आपको बता दें कि इससे पहले तेजस्वी यादव के पिता और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भी राज्य  में हो रहे दंगों को लेकर सवाल उठाया था। लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि राज्य की सरकार राज्य में हो रहे सांप्रदायिक संघर्ष को रोक पाने में बिल्कुल ही नाकाम है। आपको बता दें कि रविवार (25मार्च) यानी रामनवमी के दिन से ही बिहार सांप्रदायिक संघर्षों की आग में जल रहा है। बेगुसराय, समस्तीपुर एवं नालंदा जिले में जमकर उत्पात मचाया गया है। हालांकि रामनवमी से  कुछ दिन पहले भी भागलपुर में एक जुलूस के दौरान सांप्रदायिक हिंसा हुई थी।

लेकिन रामनवमी के बाद से राज्य के अलग-अलग हिस्सों में सांप्रदायिक दंगों ने लोगों में दहशत भर दिया है। विपक्ष पूरी तरह से राज्य सरकार पर हमलावर है। विपक्षी नेता राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर लगातार आरोप लगा रहे हैं कि नीतीश कुमार ने राज्य में बीजेपी को अपना एजेंडा चलाने की इजाजत दे रखी है। इधर लगातार हो रहे सांप्रदायिक दंगों से नीतीश कुमार भी काफी नाराज हैं। जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने सत्ता में अपनी सहयोगी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को कड़ा संदेश देते हुए कहा है कि नीतीश कुमार किसी भी कीमत पर कानून-व्यवस्था से समझौता नहीं करेंगे। राज्य में शांति बनाए रखने के लिए पार्टी कोई भी कीतम चुकाने के लिए तैयार है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App