scorecardresearch

भगवान राम जो तीर रखते हैं वो तो नीतीश कुमार का है, कमल को कहां धारण करते हैं वो- भाजपा पर निशाना साध बोले तेज प्रताप

आरजेडी विधायक तेज प्रताप यादव ने कहा कि नीतीश कुमार नहीं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी धोखेबाज पार्टी है।

भगवान राम जो तीर रखते हैं वो तो नीतीश कुमार का है, कमल को कहां धारण करते हैं वो- भाजपा पर निशाना साध बोले तेज प्रताप
तेज प्रताप यादव (Photo Source- facebook/TejPratapYadav)

बिहार में नई सरकार के गठन के बाद भारतीय जनता पार्टी नीतीश कुमार पर आक्रामक रुख अपनाए है तो वहीं जदयू के साथ आरजेडी नेता बीजेपी पर पलटवार करने में कोई कोताही नहीं बरत रहे हैं। इसी वार-पलटवार के क्रम में अब आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव ने नीतीश कुमार का बचाव करते हुए बीजेपी पर निशाना साधा है।

तेज प्रताप यादव ने कहा कि भगवान राम जो तीर रखते हैं वो तो नीतीश कुमार का है। कमल को वो कहां धारण करते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा वाले आरएसएस को मानते हैं, वो तिरंगा झंडा को नहीं मानते। तेजप्रताप ने कहा कि नीतीश कुमार (चाचा जी) को बीजेपी के लोग अपमानित कर रहे थे। इसलिए अपमान सहने से अच्छा है या तो आदमी विष पीए या फिर साथ आ जाए।

मीडिया ने तेजप्रताप यादव से सवाल किया कि बीजेपी कह रही है कि नीतीश कुमार कभी भी अकेले दम सरकार नहीं बना सकते। इस सवाल के जवाब में तेजप्रताप ने कहा कि उन्होंने कहा कि बीजेपी को पहले अपने गिरेबान में झांके। पत्रकार ने दूसरा सवाल पूछा कि बीजेपी कह रही है कि नीतीश कुमार को बीजेपी ने सम्मान दिया, लेकिन उन्होंने धोखा दिया। इस सवाल पर तेजप्रताप ने कहा कि सबसे बड़े धोखेबाज पार्टी बीजेपी है।

बिहार में सरकार बदलने के तुरंत बाद पिछले दिनों आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव ने कहा कि भाजपा पर इतना बड़ा प्रहार श्री राम जी ने किया है कि भारतीय जनता पार्टी भाग गई। भगवान राम ने भाजपा के ऊपर बाण छोड़ दिया है, जिसके बाद भाजपा को अब बिहार छोड़कर भागना पड़ा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब लक्ष्मण जी बाण मारेंगे तो भाजपा देश छोड़कर भाग जाएगी।

बता दे, बिहार में नई सरकार गठन के बाद नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा था कि प्रति वर्ष 2 करोड़ रोजगार देने के उनके (भाजपा) वादे को भूल जाओ … इसके बजाय, वे देश में 80 करोड़ लोगों को ‘मुफ्त राशन’ देने का दावा करते हैं। तेस्जवी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ‘समाजवादी परिवार’ में वापसी को भाजपा के मुंह पर तमाचा बताया था। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय दलों को डराने या खरीदने की भाजपा की कोशिश का उद्देश्य पिछड़े वर्गों और दलितों की राजनीति को खत्म करना है, क्योंकि ज्यादातर ऐसी पार्टियां समाज के ऐसे वर्गों का प्रतिनिधित्व करती हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट