ताज़ा खबर
 

यूपी: घर से साइकिल से निकली लड़की, बदमाशों ने बीच सड़क जिंदा जलाया

घटनास्थल से पुलिस ने उसका दुपट्टा, चप्पलें, साइकिल, खाली कैन और ढेर सारी माचिस की तीलियों को बरामद किया है और उसकी लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। फिलहाल आरोपियों की पहचान नहीं की जा रही है।

Fire, set fire, relatives of the victim, Taken Into Custody, Rape Case, Rape Case in up, up police, Girl Set Fire Herself, took the relatives, case of gang rape, crime news, state newsतस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

उत्तर प्रदेश में कानपुर से सटे उन्नाव जिले में बदमाशों ने बीच सड़क पर एक 18 साल की लड़की को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया। घटना तब की है, जब वह पास के इलाके में अपनी साइकिल से बाजार जा रही थी। घटनास्थल से पुलिस ने उसका दुपट्टा, चप्पलें, साइकिल, खाली कैन और ढेर सारी माचिस की तीलियों को बरामद किया है और उसकी लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। फिलहाल आरोपियों की पहचान नहीं की जा रही है। पुलिस का कहना है कि वह मामले में जांच-पड़ताल कर रही है, जिसके आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी। लड़की को सरेराह जिंदा जलाने के बाद इलाके में सनसनी फैली हुई है। इलाके में इसी बाबत भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया है। गुरुवार की यह घटना यहां के थाना बारा सागवार क्षेत्र की है। शाम तकरीबन साढ़े चार बजे लड़की अपने घर से पास के बाजार में सब्जियां खरीदने के लिए गई थी, तभी उसे अज्ञात हमलावरों ने अपना निशाना बनाया। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी वहां से फरार हो गए। जलने के दौरान वह जोर-जोर से चिल्ला रही थी, मगर इलाके में सन्नाटा होने के कारण उसे किसी की भी मदद नहीं मिल सकी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, लड़की का पूरा शरीर आग से बुरी तरह जल गया था। पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में आगे बताया कि उन्होंने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। अगर पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कुछ और सामने आता है तो मामले की उस हिसाब से जांच की जाएगी। मगर पुलिस अभी तक आरोपियों के बारे में कुछ भी पता नहीं लगा पाई है।

गुरुवार शाम हुई घटना के बाद मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी। (फोटोः एएनआई)

प्रदेश में यह पहला मामला नहीं है, जब बीच सड़क पर किसी की इस तरह हत्या कर दी गई है। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार, 2016 में देशभर में हुए अपराधों में से उत्तर प्रदेश में सिर्फ 9.5 फीसद अपराध हुए थे, जबकि कुल 14.5 फीसद मामले सूबे में महिलाओं के खिलाफ देखने को मिले थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 विधायक ने कहा- कमेटी बनवा कर गिनवा लें विधानसभा में कितने भूत-प्रेत और आत्‍माएं
2 मध्य प्रदेश के मंत्री बोले- टेलिविजन पर चड्ढी पहनी महिलाओं का विरोध क्यों नहीं
3 यूपी: बजरंग दल दफ्तर में 10 साल के बच्चे से कुकर्म, संगठन ने कहा- आरोपी हमारा सदस्य नहीं
ये पढ़ा क्या?
X