ताज़ा खबर
 

लड़कियों पर लगा चोरी का आरोप, टीचर ने कपड़े उतरवाकर ली तलाशी

सब इंस्पेक्टर शंकर सिंह जमरा ने कहा कि अपनी शिकायत में दोनों छात्राओं ने आरोप लगाया है कि इस दौरान वह लगातार गिड़गिड़ाती रहीं, लेकिन दोनों शिक्षिकाएं नहीं मानी।

Author अलीराजपुर | January 10, 2018 8:28 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है। (Photo: Ankita Dwivedi Johri)

मध्य प्रदेश के आदिवासी बहुल अलीराजपुर जिले में सहपाठी छात्रा के एक हजार रुपए चोरी होने के मामले में दो शिक्षिकाओं ने 11वीं कक्षा की दो छात्राओं की कथित तौर पर निर्वस्त्र करके तलाशी ली। दोनों पीड़ित छात्राओं ने जोबट पुलिस थाने में मंगलवार देर शाम इस संबंध में शिकायत की है। वहीं, स्कूल प्रबंधन ने आरोपों से इंकार किया है। प्रबंधन का कहना है कि दोनों छात्राओं की सामान्य जांच की गई थी। इस पूरे घटनाक्रम की जांच कर रहे अधिकारी सब इंस्पेक्टर शंकर सिंह जमरा ने बताया, ‘‘जोबट पुलिस थाने पर कल देर शाम को कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल जोबट की कक्षा 11वीं में पढ़ने वाली दो छात्राओं ने स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाया है कि एक छात्रा के रुपए गायब होने की शिकायत पर स्कूल की दो शिक्षिकाओं ने उन्हें निवस्त्र कर सोमवार को उनकी तलाशी ली।’’

जमरा ने कहा कि अपनी शिकायत में दोनों छात्राओं ने आरोप लगाया है कि इस दौरान वह लगातार गिड़गिड़ाती रहीं, लेकिन दोनों शिक्षिकाएं नहीं मानी। उनका आरोप है कि उन दोनों की पहले बिना कपड़े उतारे सामान्य तलाशी ली गई। फिर उन्हें एक कमरे में ले जाकर तलाशी के नाम पर निर्वस्त्र किया गया। लेकिन तलाशी में कुछ नहीं निकला। उन्होंने कहा कि इस मामले में स्कूल प्रबंधन की ओर से एक आवेदन भी प्रभारी प्रिंसिपल प्रभु पंवार की ओर से जोबट पुलिस थाने को सौंपा गया है, जिसमें दोनों छात्राओं के निर्वस्त्र कर तलाशी लेने के आरोपों को नकारा गया है।

जमरा ने बताया, “दोनों पक्षों के आवेदन जोबट पुलिस थाने को प्राप्त हुए हैं। हम हर पहलू से मामले की जांच कर रहे हैं। जांच के परिणामों के आधार पर कार्रवाई तय होगी।’’ इसी बीच, जोबट के कन्या हायर सेंकडरी स्कूल के प्रभारी प्रिंसिपल प्रभु पंवार (52) ने बताया, ‘‘यह बात सही है कि एक छात्रा के 1,000 रुपए गायब होने की शिकायत पर दोनों छात्राओं की सामान्य जांच की गई है, लेकिन उन्हें निर्वस्त्र कर तलाशी लेने के आरोप निराधार है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App