ताज़ा खबर
 

बनाया अनोखा नियम, पार्क में एंट्री के लिए कपल्स को लाना होगा शादी का सर्टिफिकेट

कोयम्बटूर स्थित तमिलनाडु ऐग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के बॉटेनिकल गार्डन में गैर शादीशुदा कपल्स की एंट्री रोक दी गई है। पार्क में केवल शादीशुदा जोड़ों को एंट्री दी जाएगी, इसके लिए उन्हें मैरिज सर्टिफिकेट दिखाना होगा।

Author January 27, 2018 8:15 PM
तस्वीर तमिलनाडु ऐग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी की बेवसाइट से ली गई है।

कोयम्बटूर स्थित तमिलनाडु ऐग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के बॉटेनिकल गार्डन में गैर शादीशुदा कपल्स की एंट्री रोक दी गई है। पार्क में केवल शादीशुदा जोड़ों को एंट्री दी जाएगी, इसके लिए उन्हें मैरिज सर्टिफिकेट दिखाना होगा। कुछ लोगों से बच्चों को भी लाने के लिए कहा जा रहा है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक सुरक्षाकर्मियों ने बताया कि कपल्स की हरकतों को देखते हुए प्रबंधन ने ऐसा फैसला लिया और उन्हें पार्क में घुसने से मना करने के लिए कहा गया है। कुछ छात्रों ने शिकायत की है कि उन्हें उनके पुरुष मित्रों के साथ भी पार्क में नहीं जाने दिया जा रहा है, एक और छात्र ने बताया कि वह शादीशुदा है, फिर भी सुरक्षाकर्मियों ने उसे पार्क में नहीं जाने दिया, उससे बच्चों को लेकर आने को कहा गया।

फ्लॉरीकल्चर डिपार्टमेंट के हेड और प्रोफेसर एम कन्नन ने बताया, ”कपल्स ने पार्क को छिपने और मस्ती करने की जगह बना रखी थी, जिसे देखते हुए यूनीवर्सिटी को यह नियम लागू करना पड़ा। शुरु में हमने लोगों के पहचानपत्र और मोबाइल नंबर चेक करने का नियम लागू कर उन्हें पार्क में एंट्री करने का नियम बनाया था, बावजूद इसके कपल्स की हरकतों से पार्क में आने वाले दूसरे लोग असहज हो रहे थे। इस बारे में कई छात्रों और परिवारों ने शिकायत की थी।”

कुछ छात्रों का कहना है कि अगर यूनिवर्सिटी को गैर-विवाहित जोड़ों से दिक्कत हैं तो उसे सीसीटीवी कैमरे लगाकर सुरक्षा के बेहतर इंतजाम करने चाहिए। सार्वजनिक जगह पर जाने से रोकना अवैध है।आईएएस की तैयारी कर रहे एक छात्र ने बताया कि उसके शादीशुदा होने के बाद भी सुरक्षाकर्मियों ने उसे पार्क में नहीं जाने दिया। सुरक्षाकर्मियों ने बच्चों को लाने की सूरत में ही पार्क में जाने के लिए अनुमति देने पर तैयार थे। छात्र ने बताया कि वह अपने एक पुरुष मित्र के साथ पार्क में गया था, उसे अपने नए काम के लिए योजना बनानी थी, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोक दिया।

पार्क के खुलने का समय सुबह 8 बजे का है और सवा ग्यारह बजे इसे बंद कर दिया जाता है। इसके बाद ढाई से साढ़े चार बजे तक पार्क खुलता है। पार्क की टाइमिंग के बारे में छात्र शिकायत भी कर चुके हैं। तितलियों पर शोध करने वाले एक शोधार्थी ने बताया कि तितलियां 10 बजे के बाद ही निकलती हैं और फिर घंटे भर में उसे पार्क खाली करने लिए कह दिया जाता है। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस में दर्ज कपल्स के एक केस को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। प्रोफेसर कन्नन ने बताया कि पार्क अनुसंधान और शैक्षणिक कार्यों के लिए है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X