Tamilnadu Government will provide free cosmetic breast surgery at government hospital - तमिलनाडु में मुफ्त ब्रेस्‍ट कॉस्मेटिक सर्जरी, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- गरीब महिलाओं को भी मिलना चाहिए ब्‍यूटी ट्रीटमेंट - Jansatta
ताज़ा खबर
 

तमिलनाडु में मुफ्त ब्रेस्‍ट कॉस्मेटिक सर्जरी, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- गरीब महिलाओं को भी मिलना चाहिए ब्‍यूटी ट्रीटमेंट

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी. विजय भास्कर ने कहा कि सरकार की ओर से कॉस्मेटिक ब्रेस्ट सर्जरी की सुविधा न देने पर महिलाएं खतरनाक तरीके अपना सकती हैं। इसके लिए वे भारी-भरकम लोन भी ले सकती हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

तमिलनाडु सरकार ने एक अप्रत्याशित कदम के तहत राज्य में महिलाओं के लिए मुफ्त ब्रेस्ट कॉस्मेटिक सर्जरी की व्यवस्था करने का फैसला किया है। तमिलनाडु स्वास्थ्य विभाग ने 21 फरवरी को चेन्नई के गवर्नमेंट स्टेनली मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में कॉस्मेटिक सर्जरी क्लीनिक की शुरुआत की। इस क्लीनिक में सोमवार (26 फरवरी) से रजिस्ट्रेशन कराने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सी. विजय भास्कर ने कहा, ‘गरीब महिलाओं के लिए ब्यूटी ट्रीटमेंट की सुविधा क्यों नहीं उपलब्ध होनी चाहिए? यदि हमलोग ऐसी सुविधा नहीं देंगे तो वे इसके लिए खतरनाक तरीके अपना सकती हैं या फिर ब्रेस्ट कॉस्मेटिक सर्जरी कराने के लिए भारी-भरकम लोन भी ले सकती हैं।’ ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की रिपोर्ट के अनुसार, फिलहाल सर्जरी के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से फंड मुहैया कराया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि अधिकारी स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराने वाली सरकारी कंपनी यूनाइटेड इंडिया से बात करेंगे, ताकि सामाजिक वजहों को ध्यान में रखते हुए इसे कवर किया जा सके। जानकारी के मुताबिक, पिछले कुछ महीनों में ‘ब्रेस्ट रीकंस्ट्रक्शन सर्जरी’ के लिए कई महिलाएं अस्पताल आ चुकी हैं। बता दें कि पश्चिमी देशों में इस तरह की सर्जरी बेहद आम है। कुछ वर्ष पहले ब्राजील में इसका प्रचलन बहुत बढ़ गया था। इसके कारण स्वास्थ्य संबंधी कई तरह की परेशानियां सामने आने के बाद सरकार को जरूरी कदम उठाने पड़े थे।

सरकार के कदम की आलोचना: तमिलनाडु सरकार के इस कदम की आलोचना भी शुरू हो गई है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है राज्य सरकार ब्यूटी केयर की सुविधा देकर बेवजह धन की बर्बादी कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के पूर्व निदेशक डॉक्टर डीएस. इलंगो ने कहा कि सरकार की योजना सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के बजाय महज एक लोकलुभावन स्कीम है। उनके मुताबिक सरकारी धन का इस्तेमाल नॉन कम्यूनिकेबल और कम्यूनिकेबल बीमारियों की रोकथाम में किया जाना चाहिए। बकौल इलंगो, यह बेहद दुखद है कि लाइफ-सेविंग सर्जरी के बजाय सरकार अपना ध्यान ब्यूटी केयर पर लगा रही है। वहीं, स्टेनली मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट की प्रमुख डॉक्टर वी. रमादेवी ने कहा कि लार्ज ब्रेस्ट के कारण कंधों में दर्द, फंगल इंफेक्शन और स्किन से जुड़ी समस्याएं होती हैं। सर्जरी के जरिये इससे निजात मिल सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App