ताज़ा खबर
 

गोदावरी और कृष्णा तटीय क्षेत्रों में बाढ़ की चेतावनी

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में केंद्र ने कुल 17 राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) टीमें तैनात की हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: September 26, 2016 1:41 AM
Flood, Flood In Bihar, flood In Uttar Pradesh, Birth On Boat, NDRF. NDRF Team, Pregnant womanएनडीआरएफ की टीमें बाढ़ प्रभावित इलाकों में लगातार बचाव कार्य में जुटी है और पीड़ितो को सुरक्षित स्थानों पर ले जा रही है। (फोटो- PTI)

कर्नाटक, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में गोदावरी व कृष्णा नदी के तटीय क्षेत्रों के करीब बसे जिलों में बाढ़ की चेतावनी जारी की गई है जबकि बारिश जनित घटनाओं में रविवार को चार लोगों की मौत हो गई। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में केंद्र ने कुल 17 राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) टीमें तैनात की हैं। इनमें 550 से अधिक कर्मी शामिल हैं। केंद्रीय बल ने फंसे हुए लोगों की मदद के लिए 60 नौकाएं और अर्धचिकित्साकर्मियों की टीमें भी तैनात की है। इन क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों में भारी वर्षा हुई है। एनडीआरएफ ने एक बयान में कहा, ‘आंध्रप्रदेश की विभिन्न बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 309 बचावकर्मियों की बाढ़ बचाव की नौ टीमें पहले से तैनात कर दी गई हैं, उन्हें 32 रबड़ नौकाएं और संचार उपकरण की सुविधाएं दी गई हैं।’ गुंटूर जिले के पेडुगुरालू, नारसापेट और अमरावती में तीन टीमें, हैदराबाद और विशाखापत्तनम में एक-एक और श्रीकाकुलम व नेल्लोर जिलों में दो-दो टीमें पहले से तैनात कर दी गई हैं।

एनडीआरएफ ने कहा, ‘मेदक और निजामबाद में एक-एक बाकी टीम और हैदराबाद में तीन टीमें तैनात की गई हैं।’कर्नाटक के बीदर, कलबुर्गी और बंगलुरु जिलों में 84 बचावकर्मियों वाली तीन टीमों को लगाया गया है।बल ने कहा, ‘इनके अलावा, बाढ़ जैसी स्थिति पर त्वरित कार्रवाई के वास्ते अन्य राज्यों में 17 बाढ़ बचाव टीमें तैयार रखी गई हैं। एनडीआरएफ टीमें स्थानीय प्रशासन के संपर्क में हैं और वह हमेशा स्थिति की निगरानी कर रही है।’तेलंगाना के मेडक जिले में एक व्यक्ति के मरने की सूचना है जिससे राज्य में बाढ़ संबंधी मामलों में मरने वालों की संख्या बढ़ कर आठ हो गई है।

बाढ़ का अलर्ट: जल संसाधन मंत्रालय ने महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में गोदावरी और कृष्णा नदियों के निकट के जिलों में बाढ़ का अलर्ट जारी किया है।
मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘संबंधित राज्य सरकारों और जिला प्रशासनों को परामर्श दिया गया है कि वे अगले तीन से सात दिनों के दौरान उच्चतम स्तर के ऐहतियाती कदम उठाएं।’जिन जिलों में सामान्य बाढ़ की आशंका जताई गई है उनमें तेलंगाना के निजामाबाद, आदिलाबाद और करीमनगर जिले हैं, जहां अगले तीन से चार दिनों तक सावधानी बरती जानी है। यह स्थिति चार से छह दिनों के लिए आंध्र प्रदेश के तेलंगाना के खम्मम और आंध्र प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी गोदावरी जिलों में पैदा हो सकती है।
महाराष्ट्र के बीड़, लातूर और नांदेड़, कर्नाटक के बीदर, तेलंंगाना के मेदक, रंगारेडी और निजामाबाद जिले गोदावरी बेसिन की लघु और मध्यम स्तर की सहायक नदियों से पानी छोड़े जाने की वजह से प्रभावित हो सकते हैं।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जयललिता की जीत से कर्नाटक परेशान, करुणानिधि चिढ़े: अन्नाद्रमुक
2 पिता की मौत पर मिलना था मुआवजा, अफसरों ने मांगी रिश्वत तो बेटे ने भीख मांगकर जमा किए पैसे
3 Video: कैमरे में कैद हुआ हादसा, पैराग्लाइडिंग कर रहे शख्स की 60 मीटर ऊंचाई से गिरकर मौत