ताज़ा खबर
 

60 से ज्‍यादा महिलाओं को यौन शोषण का शिकार बनाने वाले गैंग का भंडाफोड़, कमल हासन ने उठाया था मुद्दा

कोयंबटूर के पोल्लाची में 60 से अधिक युवतियों के साथ कथित रूप से यौन शोषण के मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस का कहना है कि युवतियों के साथ पिछले सात साल से इस घिनौने अपराध को अंजाम दिया जा रहा था। अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन ने 60 महिलाओं के यौन उत्पीड़न के खिलाफ सबसे पहले उठाई आवाज उठाई थी।

इस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फोटो सोर्स: एक्सप्रेस आर्काइव)

तमिलनाडु के कोयंबटूर में 60 महिलाओं के साथ कथित रूप से यौन उत्पीड़न करने वाले गैंग का भंडाफोड़ हुआ है। पुलिस ने इस मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस का कहना है कि ये लोग पिछले सात साल से महिलाओं को नियमित रूप से निशाना बना रहे थे। नेता से अभिनेता बने कमल हासन ने इन महिलाओं के साथ हुए यौन उत्पीड़न के मामले को सबसे पहले उठाया था। इन सभी महिलाओं की उम्र 20 साल से कम बताई जा रही है। राज्य की विपक्षी पार्टी डीएमके के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने भी सरकार पर इस मामले के आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया है।
इससे पहले कमल हासन ने बयान जारी कर बताया, ‘कोयंबटूर के पोल्लाची में लोगों के एक समूह की तरफ से 60 से अधिक महिलाओं को ब्लैकमेल करने के साथ ही उन्हें टॉर्चर किया जा रहा था। मक्कल निधि माइम (एमएनएम) इस घटना की कड़ी निंदा करती है। एमएनएम ने पुलिस से इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया था। ‘ पुलिस ने गैंग का भंडाफोड़ कर एक वीडियो जब्त किया। इस वीडियो में लोगों का एक समूह एक युवती का शोषण कर रहे हैं और वह युवती खुद को छोड़ देने की गुहार लगा रही है। पुलिस ने बताया कि जिस एक महिला का कथित उत्पीड़न किया गया, उसने शिकायत दर्ज कराई थी।

सोशल मीडिया के जरिये जाल में फंसायाः पुलिस का कहना है कि जिन युवतियों के साथ यौन शोषण की घटना सामने आई है उनमें से अधिकतर कॉलेज स्टूडेंट्स हैं। इन लोगों को पहले सोशल मीडिया पर मैसेज भेजा जाता था। इसके बाद इन्हें डिनर और लॉन्ग ड्राइव के लिए बुलाया जाता था। आरोपी पहले लड़कियों का विश्वास जीतते फिर उनका यौन शोषण करते थे। शिकायत के आधार पर आठ आरोपियों में से एक की पहचान तिरुनावुकारासू के रूप में हुई है।

एआईडीएमके ने कार्यकर्ता को पार्टी से निकालाः इस बीच छात्राओं के साथ यौन उत्पीड़न में नाम आने पर सत्ताधारी एआईएडीएमके ने पोल्लाची से अपने कार्यकर्ता को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। उप मुख्यमंत्री ओ. पनीरसेल्वम की तरफ से हस्ताक्षरित बयान में कहा गया कि ए. नागराज ने पार्टी को शर्मिंदा किया है। वहीं, एआईएडीएमके नेता पोल्लाची जयरमन ने कहा, ‘इस मामले में नाम आने पर हमने उसे निष्कासित कर दिया है।’ डीएमके की तरफ से चुनाव से पहले पार्टी को बदनाम करने का यह प्रयास है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App