ताज़ा खबर
 

छह फुट के कोबरा पर चढ़ाई BMW, पीछा करते हुए कार में घुस गया, देखें वीडियो

करीब 6 फुट का जहरीला नाग गाड़ी से बाहर निकला। मौके पर मौजूद लोगों ने मोबाइल फोन से घटना का वीडियो बना लिया। वीडियो में हैंडलर बड़ी सावधानी से नाग को बाहर निकालता हुआ दिखाई देता है। बाहर आते ही नाग फन फुलाए दिखता है।

वीडियो से लिए गए स्क्रीनशॉट्स। (Video Source: The News Minute)

तमिलनाडु में ऐसा वाकया घटित हुआ जैसा फिल्मों में देखने को मिलता है। तिरुपुर से मदुरई जाते वक्त रास्ते में दो कारोबारियों की एक बीएमडब्ल्यू कार कथित तौर पर एक सांप पर चढ़ गई। कारोबारी किसी शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रहे थे। स्थानीय मीडिया के मुताबिक सांप के ऊपर से कार निकलने के बाद भी वह बच गया और कार का पीछा कर लिया। कार में सवार दोनों कारोबारियों को लगा कि सांप की मौत हो गई और उन्होंने कार आगे बढ़ा दी। कुछ देर में उन्हें गाड़ी में सांप की झलक दिखी। कार सवार दोनों कारोबारी डर के मारे व्याकुल हो गए और फायर सर्विस को बुला लिया। फायरमैन ने कार की तलाशी ली लेकिन कुछ नहीं मिला। कारोबारियों ने बीएमडब्ल्यू सर्विस सेंटर पर फोन लगा दिया। सर्विस सेंटर से कहा गया कि कार इतनी सुरक्षित है कि एक चीटी भी उसमें घुस नहीं सकती है। हालांकि, जैसे ही उन्होंने दोबारा गाड़ी आगे बढ़ाई तो एक बार फिर सांप दिखाई दिया। इस बार कोई जोखिम लेने के बजाय उन्होंने कार को बीएमडब्ल्यू सर्विस सेंटर ले जाने का फैसला किया।

सर्विस सेंटर के स्टाफ ने कथित तौर पर सांप को नुकसान पहुंचाकर बाहर निकालने की कोशिश की लेकिन जब वे ऐसा करने में नाकाम रहे तो सांप पकड़ने वाले प्रोफेशनल आदमी को बुलाने में भलाई समझी। प्रोफेशनल स्नैक हैंडलर ने बड़ी सावधानी से सांप को बाहर निकाला। करीब 6 फुट का जहरीला नाग गाड़ी से बाहर निकला। मौके पर मौजूद लोगों ने मोबाइल फोन से घटना का वीडियो बना लिया। वीडियो में हैंडलर बड़ी सावधानी से नाग को बाहर निकालता हुआ दिखाई देता है। बाहर आते ही नाग फन फुलाए दिखता है। द न्यूज मिनट की खबर के मुताबिक सांप को बाहर निकालने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। यहां तक कि गाड़ी के अंजर-पंजर खोलने पड़े।

वीडियो में सांप को बाहर निकाले जाने की प्रकिया दिखाई देती है। रिपोर्ट के मुताबिक सांप को संजय नाम के संरक्षणवादी ने बाहर निकाला जोकि कोयंबटूर में सेव्स अवर स्नेक्स ऑर्गनाइजेशन संगठन का हिस्सा हैं और सरीसृपों के संरक्षण के लिए काम करते हैं। संजय ने मीडिया से बात करते हुए अफसोस जताया कि सांप को पीटकर निकाले जाने में नाकाम रहने पर ही उन्हें बुलाया गया। कार सवार कारोबारियों ने इस मामले में मीडिया से कुछ भी बात करने से मना कर दिया। बाद में सांप को वन अधिकारियों को सूचित कर जंगल में छोड़ दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App