ताज़ा खबर
 

विहिप की रामराज्य रथयात्रा: 300 लोगों पर FIR, 50 मोटरसाइकिलें जब्त

विरोधी पार्टियां दावा कर रही हैं कि यात्रा से सांप्रदायिक सद्भाव प्रभावित होगा। 21 मार्च को यात्रा के खिलाफ विरोध करने पर विपक्ष के नेता एम के स्टालिन समेत 75 विधायकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।
मदुरै में रामराज्य रथ यात्रा के पहुंचने पर सुरक्षा के कंडे बंदोबस्त किये गये थे (फोटो-पीटीआई)

तमिलनाडु पुलिस ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए समर्थन जुटाने की खातिर आयोजित की जा रही रामराज्य रथ यात्रा में शामिल 300 लोगों पर FIR दर्ज किया है। पुलिस ने 50 मोटरसाइकिलें भी जब्त कर ली है। यह यात्रा मंगलवार (20) मार्च को तमिलनाडु में प्रवेश की थी। पुलिस ने इन लोगों पर आम जनजीवन में बाधा डालने का आरोप लगाया है। इस यात्रा का आयोजन विश्व हिन्दू परिषद के समर्थन से किया जा रहा है। तमिलनाडु में डीएमके समेत कुछ मुस्लिम संगठनों ने इस यात्रा का विरोध किया था। विरोधी पार्टियां दावा कर रही हैं कि यात्रा से सांप्रदायिक सद्भाव प्रभावित होगा। 21 मार्च को यात्रा के खिलाफ विरोध करने पर विपक्ष के नेता एम के स्टालिन समेत 75 विधायकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। वहीं मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने यह कहते हुए यात्रा को मंजूरी देने के फैसले का बचाव किया था कि सभी धर्मों को समान अधिकार मिले हुए हैं और विपक्ष इसे राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहा है। पुलिस ने जिन लोगों पर एफआईआर दर्ज किया है वे लोग वीएचपी, हिन्दू मुन्नी और दूसरे संगठनों से जुड़े हुए हैं।

पुलिस के इस कदम को मुख्यमंत्री पलानीस्वामी द्वारा बैलेंस बनाने की कवायद बताया जा रहा है। इससे पहले इस यात्रा का विरोध कर रहे सैकड़ों लोगों को हिरासत में लिया गया था। यात्रा की सुरक्षा के लिए भी बड़ी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई थी। 21 मार्च को रामेश्वरम में लोगों बड़े उत्साह के साथ इस यात्रा का स्वागत किया था। रामेश्वरम के प्रसिद्ध भगवान रंगनाथस्वामी मंदिर के पास रथ यात्रा के पहुंचने पर एक जनसभा का आयोजन किया गया जिसे विहिप एवं दूसरे हिंदू संगठनों के नेताओं और आयोजकों ने संबोधित किया।

भाजपा की तमिलनाडु इकाई ने द्रमुक और अन्य राजनीतिक दलों पर विहिप सर्मिथत राम राज्य यात्रा का विरोध कर राज्य में कानून- व्यवस्था को हाथ में लेने का आरोप लगाया। कोयम्बटूर में संवाददाताओं से बातचीत में बीजेपी नेता तमिलिसाइ सुंदरराजन ने कहा कि चार राज्यों के बाद यात्रा शांतिपूर्ण तरीके से तमिलनाडु पहुंची है लेकिन राज्य में विपक्षी दल सड़कों पर आ गए हैं, और बिना वजह इस यात्रा का विरोध कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App