ताज़ा खबर
 

VIDEO: नाबालिग को पिटता देख पुलिसवालों से उलझा रिपोर्टर, लोग कर रहे तारीफ

इस वीडियो में एक पत्रकार ने प्रदर्शन के दौरान नाबालिग बच्चों को पीटने का की रिकॉर्डिंग की है। इस दौरान इस पत्रकार को वीडियो रिकॉर्डिंग करते हुए पुलिस वाले देख लेते हैं। इसके बाद सभी पुलिस वाले रिपोर्टर से वीडियो मिटाने की मांग कर करते हैं। रिपोर्टर का कहना है कि आप अपना गुस्सा बच्चों पर क्यों निकाल रहे हैं।

तूतीकोरिन में प्रदर्शन के दौरान एक शख्स पर लाठियां बरसाती पुलिस (फोटो-पीटीआई)

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में 23 मई को पुलिस फायरिंग में 13 लोगों की मौत हो गई। इस पुलिसिया जुल्म की देश भर में निंदा की गई। यहां पर स्टरलाइट फैक्ट्री के खिलाफ लोग प्रदर्शन कर रहे थे। इस घटना का सोशल मीडिया में आया एक वीडियो काफी सुर्खियों में है। इस वीडियो में एक पत्रकार ने प्रदर्शन के दौरान नाबालिग बच्चों को पीटने का की रिकॉर्डिंग की है। इस दौरान इस पत्रकार को वीडियो रिकॉर्डिंग करते हुए पुलिस वाले देख लेते हैं। इसके बाद सभी पुलिस वाले रिपोर्टर से वीडियो मिटाने की मांग कर करते हैं। रिपोर्टर का कहना है कि आप अपना गुस्सा बच्चों पर क्यों निकाल रहे हैं। दरअसल ये रिपोर्टर फेसबुक लाइव कर रहा होता है, तभी ये घटना होती है। सीपीआईएमल नेता कवित कृष्णन ने इस वीडियो को शेयर कर पुलिस वालों पर अपना गुस्सा निकाला है। उन्होंने लिखा, “ये शख्स बच्चों को पीट रही पुलिस के वीडियो रिकॉर्ड कर रहा था, तभी पुलिसवालों ने उसे घेर लिया। इस शख्स ने कहा कि आप अपना गुस्सा बच्चों पर मत निकालिए। जब पुलिस वालों ने कहा कि हम तुम्हारा वीडियो डिलीट कर देंगे तो इस शख्स ने कहा कि ये तो फेसबुक लाइव था सर।” इस घटना के बाद और भी लोगों ने इस पत्रकार की तारीफ की है।

इधर इस घटना के बाद तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड ने स्टरलाइट की बिजली आपूर्ति काटने और तुरंत प्रभाव से संयंत्र को बंद करने का आदेश जारी किया है। बता दें कि तूतीकोरिन में स्टरलाइट तांबा संयंत्र को बंद करने की मांग करते हुए पड़ोसी गांवों के लोगों पर पुलिस ने मंगलवार को गोलियां चलाई थीं, जिसमें उस दिन 11 लोगों की मौत हो गई थी। ग्रामीणों का कहना था कि यह कृषि भूमि को नष्ट कर रहा है और इलाके में स्वास्थ्य सेवाओं को खराब कर रहा है। घटना में 100 से ज्यादा लोग घायल हो गये थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App