ताज़ा खबर
 

57 साल के इस शख्स ने आठ साल में 8 महिलाओं से की शादी, लगाया 4.5 करोड़ रुपये का चूना

ट्रक ट्रांसपोर्ट के बिजनेस में नुकसान हुआ तो तमिलनाडु के इस शख्स ने शादी रचाकर महिलाओं को लगा दिया करोड़ों का चूना

Author नई दिल्ली | January 10, 2018 7:44 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

तमिलनाडु में ट्रक टांसपोर्ट का बिजनेस खराब चलने पर एक शख्स ने शादी का धंधा शुरू कर दिया । आठ साल में आठ महिलाओं से शादी कर उन्हें साढ़े चार करोड़ रुपये का चूना लगाया। बात हो रही है कोयंबटूर के 57 वर्षीय पुरुषोत्तमन की। सब कुछ इस शख्स की मर्जी के मुताबिक चल रहा था कि अचानक गच्चा खा गया। जब धोखाधड़ी की शिकार हुई चेन्नई के एक कॉलेज की लेक्चरर इंदिरा ने उसके खिलाफ शिकायत कर दी।

पुरुषोत्तम के आकर्षण में आकर 47 वर्ष की उम्र में इंदिरा ने शादी की थी। इस वक्त इंदिरा 57 साल की हैं।उन्होंने अपने पति के धंधे की पोल खोली है। उनके मुताबिक पति पुरुषोत्तम ने उन्हें चेन्नई के मकान को बेचने का सुझाव दिया तो उन्होंने खुशी-खुशी बेच दिया। मगर, धक्का तब लगा जब पति पूरा पैसा लेकर भाग गया। इस प्रकार पति ने उन्हें बिना पैसा का बेसहारा और बेघर छोड़ दिया। धोखाधड़ी का शिकार होने के बाद भी इंदिरा ने हार नहीं मानी और पहुंच गईं शिकायत करने पुलिस स्टेशन । पुलिस की तफ्तीश में पता चला कि इंदिरा से पहले सात अन्य महिलाओं से शादी कर पुरुषोत्तम उन्हें झांसा देकर पैसा हड़प चुका है।

इंदिरा की शिकायत पर कोयंबटूर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया। पुरुषोत्तम की कथित तीन पत्नियों के मुताबिक उनसे पुरुषोत्तम ने 4.5 करोड़ रुपये ऐंठ लिए। इसी तरह एक अन्य पत्नी कुमुदवली को पुरुषोत्तमन ने बताया कि उसका कोर्ट में एक मुकदमा लंबित चल रहा है, जीतने पर 17 करोड़ मिलेंगे। केस जीतने के लिए पैसे की जरूरत है। पति के प्यार की डोर में बंधी महिला के पास शक की कोई वजह नहीं थी और उसने फार्मलैंड बेचकर पुरुषोत्तमन को तीन करोड़ दे दिए। खास बात है कि आरोपी ने कोयंबटूर की एक मेट्रोमोनियल एजेंसी के जरिए महिलाओं से संपर्क कर उन्हें चूना लगाया।
पुलिस को शंका है कि एजेंसी चलाने वाले एक महिला और पुरुष को भी कुछ पैसे पुरुषोत्तमन ने कमाई के दिए हैं। इस मकसद से ताकि एजेंसी दूसरी शादी का विचार कर रहीं महिलाओ को उसके रईस होने की जानकारी दे। एजेंसी चलाने वालों की पहचान मोहन और वनजा कुमारी के रूप में हुई है। पुलिस उनकी गिरफ्तारी की कोशिश कर रही है। पुलिस का कहना है कि पुरुषोत्तमन गांधीपुरम में ट्रक ट्रांसपोर्ट का दफ्तर चला रहा था। वह वेल्लौर के घऱ में मां और बेटी गीतांजलि के साथ रहता था। कुछ साल पहले उसकी पत्नी ऊषारानी की मौत हो गई थी। मेट्रोमोनियल साइट संचालक मोहन और वंजा के संपर्क में आने के बाद पुरुषोत्तम ने सभी आठ महिलाओं को धोखा देकर शादी की फिर उनसे पैसे हड़प लिए। उसने सबिता, ऊषारानी, विमला, शांतिनी, चित्रा, सुशीला सहित आठ महिलाओं से शादी कर डाली। पुलिस के मुताबिक पुरुषोत्तम ने उन्हीं महिलाओं से शादी की जो हाईप्रोफाइल थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App